अनुसूचित जाति छात्रावास की छात्राओं को घुमाने ले गई पुरानी शिक्षिका, बवाल, मामला कोतवाली में | Shivpuri News

शिवपुरी। खबर शहर के शिव मंदिर टॉकीज के सामने स्थिति अनुसूचित जाति कन्या छात्राबास से आ रही है। जहां बीते 5 दिन पूर्व एक शिक्षिका इस छात्राबास में पढ रही छात्राओं को छात्राबास अधीक्षक की बिना परमीशन के ले जाने को लेकर बबाल हो गया। इस मामले की शिकायत छात्रावास की अधीक्षिका ने सिटी कोतवाली में की। जहां पुलिस ने उक्त शिक्षिका को थाने बुलबाया। उसके बाद मामला लगातार तूल पकडता रहा। परंतु बाद में छात्राओं के बयान के बाद मामला स्पष्ट हो सका।

जानकारी के अनुसार अनुसूचित जाति कन्या छात्राबास में पदस्थ शिक्षिका मोनिका तोमर और सोनी मैडम ने शिकायती आवेदन कोतवाली में देते हुए शिकायत दर्ज कराई कि उनके छात्राबास में पूर्व में पदस्थ शिक्षिका प्रीति कुशवाह बीते 24 तारीख को छात्राबास से कुछ छात्राओं को बुलाकर अपने साथ घूमाने ले गई। जिसकी न तो उक्त शिक्षिका ने छात्राबास में सूचना दी और न ही छात्राओं के परिजनों को सूचित किया।

इस मामले की शिकायत आते ही इस मामले में पुलिस तत्काल सक्रिय हुई। पुलिस ने तत्काल पूर्व में पदस्थ शिक्षिका प्रीति कुशवाह को कोतवाली बुलाया और उसके पूछताछ की। जहां प्रीति ने पुलिस को बताया कि वह इन छात्राओं को पहले से जानती है और वह इन्हें बाजार ले गई थी। परंतु प्रबंधन की इतनी बढी लापरवाही सामने आने के बाद भी अभी तक प्रबंधन पर कोई कार्यवाही नहीं हो सकी। जबकि इस मामले में पुलिस ने दोनों पक्षों को समझाकर राजीनामा कर भगा दिया।

इनका कहना है

मामला कोई विशेष नहीं था,इस छात्राबास की छात्राएं पहले पढाने बाली शिक्षिका के साथ बाजार चली गई थी। वह बापिस आ गई उसके बाद इनके बाद आदिम जाति के सीईओ भी आ गए। मामला सुलझ गया।
बादाम सिंह यादव,टीआई कोतवाली