MLA रघुवंशी और CEO वर्मा में हुए भ्रष्टाचार के मामलों पर तीखी बहस, MLA बोले PM साहब को आना होगा

शिवपुरी। शिवपुरी के सरकारी कार्यालयो में काम काज का तरीका कैसा है।इसका उदाहरण कलेक्ट्रेट में जब सामने आया जब कोलारस के भाजपा विधायक वीरेन्द्र रघुवंशी अपने क्षेत्र के लोगो की समस्या लेकर कलेक्ट्रेट पहुंचे,जहां भ्रष्ट्राचार की प्रमाणिक शिकायतो के बाबजूद भी कार्रवाई न होने पर जिला पंचायत सीईओ एचपी वर्मा से तीखी बहस करते दिखे।

विधायक वीरेन्द्र रघुवंशी ने कहा कि जिला पंचायत का काम ऐसा है कि 9 साल से मेंरे पैतृक गांव गिंदौरा पंचायत के भ्रष्टाचार की जांचे चल रही हैं,पूर्व सरंपच ने अपना कार्यकाल समाप्त कर लिया है और वर्तमान का 4 साल का हो गया हैं। दोनो ने जमकर भ्रष्टाचार किया हैं,4 बार जांच हो चुकी हैं शिकायते सिद्ध् हो चुकी है पर एफआईआर के आदेश नही हुए हैं,पता नही फिर जांच क्यो कराई जा रही हैं।

ग्रामीणो के साथ विधायक रघुवंशी ने सीईओ जिला पंचायत से कहा कि मै ग्रामीणो के साथ आया हूं आप इनसे ही जाने की यह भरी बरसात में कैसे जीवन बसर कर रहे हैं। ग्राम सेमरी में ग्रामीणो के पीएम आवास नही बन रहे हैं।

सरपंच और सचिव ने रााशि निकाल जी हैं,इसकी कई बार शिकायत हो चुकी हैं,मैने ऐसी कई पंचायतो की स्वयं आपसे शिकायत की हैं जिनमे पीएम आवास योजना में 30 से 40 लाख रूपए की गडबडी हैं,शिकायते सिद्ध हो चुकी हैं,लेकिन आप कार्रवाई नही करते हैं।

एचपी वर्मा ने कहा कि हम नियमानुसार जांच करा रहे हैं,जो भी दोषी होगा उस कार्यवाही की जाऐगी,इस पर विधायक साहब ने कहा पता नही कैसे कार्यवाही होगी। मुझे लगता हैं कि इन पर कार्रवाई कराने के लिए पीएम नरेन्द्र मोदी हो स्वयं आना होंगा।

विधायक ने कहा कि जिला पंचायत की योजनाओ की जानकारी जब उन्होने विधानसभा के माध्यम से मंगाई तो उसमें यह लिखकर दिया गया कि जानकारी एकत्रित की जा रही हैं। आपके विभाग के कर्मचारी आपको योजनाओ की जानकारी नही दे पा रहे हैं तो यह हमे समझ जाना चाहिए की आम नागरिक की समस्या का निराकरण कैसे होगा।

विधायक ने कहा कि आपके पास जितनी भी शिकायते आती हैं,उनमे से किसी पर भी कार्रवाई नही हो रही हैं। क्या शिकायतो को आप कचरे के डिब्बे में फेक देंते हैं। इस पर सीईओ ने कहा कि जितनी भी शिकायते आती हैं उन सभी को गंभीरता से लिया जाता हैं और कार्रवाई भी करते हैं।