SHIVPURI के विजय बने डिप्टी कलेक्टर,वर्षा बनी वाणिज्यिक कर निरीक्षक,पाल ने भी मारी बाजी

Bhopal Samachar

शिवपुरी। मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग (MPPSC) ने गुरुवार शाम राज्य सेवा परीक्षा-2021 की फाइनल चयन सूची जारी कर दी। इस सूची में शिवपुरी के एक छात्र का डिप्टी कलेक्टर और दूसरे छात्र का सब रजिस्ट्रार और एक छात्रा का वाणिज्यिक कर निरीक्षक के लिए चयन हुआ है।

MPPSC के जारी परिणामों से प्रदेश को 24 डिप्टी कलेक्टर, 13 डीएसपी, जिला पंजीयक सहायक संचालक, वाणिज्य कर अधिकारी, श्रम अधिकारी, मुख्य नगर पालिका अधिकारी, अतिरिक्त सहायक विकास आयुक्त, नायब तहसीलदार, सहायक श्रम अधिकारी, वाणिज्यिक कर निरीक्षक सहित पदों पर 243 नए अफसर मिल गए हैं। फाइनल नतीजों में टॉप-10 में से 7 लड़कियां हैं। 24 डिप्टी कलेक्टर में 12 बेटियों ने जगह बनाई है। रायसेन की अंकिता पाटकर 1575 में से 942 अंक हासिल कर पहले स्थान पर रहीं।

घर से पढ़ाई कर हासिल की सफलता

शिवपुरी के विजय शाक्य का डिप्टी कलेक्टर के पद पर चयन हुआ हैं। विजय ने राज्य सेवा परीक्षा-2021 की फाइनल चयन सूची में 1575 अंकों में से 853.5 अंक हासिल कर 215वां स्थान प्राप्त किया है। विजय शाक्य डिप्टी कलेक्टर की सूचि में 15वें स्थान पर हैं। विजय शाक्य की इस सफलता के बाद विजय सहित विजय के परिजनों को बधाइयां मिलना शुरू हो गई है।

विजय शाक्य ने बताया कि 2011 में MITC से इंजीनियरिंग की थी। इसके बाद उन्होंने इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन में दो साल तक काम किया। इसके बाद उन्होंने बेंगलुरु से आगामी पढ़ाई जारी रखी। मैकेनिकल की डिग्री हासिल करने के बाद उन्हें महिंद्रा एन्ड महिंद्रा से ऑफर मिला था। लेकिन पारिवारिक कारणों के चलते उन्होंने यह जॉब ज्वाइन नहीं की थी। इसके बाद 2017 में उन्होंने घर से UPPSC की तैयारी की थी। लेकिन सफलता नहीं मिली थी। फिर उन्होंने 2019 से MPPSC की तैयारी घर से शुरू की थी। जहां उन्हें 2021 में दी गई परीक्षा में सफलता मिली।

बता दें कि विजय शाक्य के पिता मोहनलाल शाक्य ग्रामीण बैंक के सीनियर मैनेजर के पद से हालही में रिटायर हुए हैं। विजय के पिता को ख़ुशी है कि उनके रिटायर होने के साथ ही उनके बेटे ने सफलता हासिल कर ली है। बता दें कि विजय का बड़ा भाई सौरभ शाक्य जिले के खनियाधाना में सब रजिस्ट्रार के पद पर अपनी सेवा दे रहे हैं। वहीं विजय की बहन दीप शिखा भी पटवारी है वह भी शिवपुरी में ही पदस्थ हैं।

शिवपुरी के विकास ने भी पाई सफलता

MPPSC परिणाम में सब रजिस्ट्रार के पद पर शिवपुरी के रहने वाले विकास पाल का चयन हुआ हैं। विकास पाल ने राज्य सेवा परीक्षा-2021 की फाइनल चयन सूची में 1575 अंकों में से 851.5 अंक हासिल कर सूची में 101वां स्थान प्राप्त किया है। विकास पाल सब रजिस्ट्रार की सूची में चौथे स्थान पर हैं। इसके अतिरिक्त विकास पाल का नाम नायब तहसीलदार की वेटिंग लिस्ट में भी है।

विकास ग्रामीण क्षेत्र से आते हैं लेकिन उन्होंने अपनी लगन और परिवार के सहयोग से सफलता हासिल कर ली हैं। विकास के पिता शिवराम पाल गांव में सचिव के पद पर पदस्थ हैं। विकास की एक बहन है जिसकी शादी हो चुकी है। वहीं विकास का एक छोटा भाई भी है वह भी तैयारी में जुटा हुआ हैं।

सब रजिस्ट्रार बने शिवपुरी के रहने वाले विकास पाल पुत्र शिवराम पाल ने बताया कि 2019 से तैयारी कर रहा था। आज 28 साल की उम्र में सफलता मिली है। उन्होंने कहा कि तैयारी करने वाले छात्रों को कभी हार नहीं माननी चाहिए, कभी संघर्ष से मुंह नहीं मोड़ना चाहिए एक ना एक दिन सफलता जरूर मिलेगी। उन्होंने यह बात कोटा में छात्रा के सुसाइड से व्यथित होकर कही थी।

माता-पिता शिक्षक, बेटी बनी वाणिज्यिक कर निरीक्षक

वहीं पिछोर कस्बे की रहने वाली वर्षा कोली का चयन वाणिज्यिक कर निरीक्षक के पद पर चयन हुआ है। वर्षा के पिता वीरेंद्र कोली और माता मिथिलेश कोली दोनों की शासकीय शिक्षक हैं। वर्षा ने पहले इंदौर रहकर तैयारी की थी फिर बाद में उन्होंने घर पर ही अध्ययन कर सफलता हासिल की है।
G-W2F7VGPV5M