SHIVPURI NEWS - नगर पालिका शिवपुरी के कबाडियो का डाटा तैयार करेगी, होंगें रजिस्ट्रेशन, DM के आदेश

Bhopal Samachar

शिवपुरी। छह महीने पहले जब थीम रोड से एंगिल अज्ञात चोरों ने चुराई थी तो वह पुलिस को पड़ताल में कबाड़ियों के यहां से मिली थी। ऐसे में घटना के पूरे 6 महीने बाद अब नगर पालिका ने जब कबाड़ियों की पड़ताल की तो खुलासा हुआ कि नगर पालिका में एक भी कबाड़ी का लाइसेंस पंजीबद्ध नहीं है, सभी अवैध रुप से दुकानों का संचालन कर रहे हैं

ऐसे में अब नगर पालिका ने इन कबाड़ियों के लिए 7 दिन का नोटिस दिया है, कि या तो वह अपने पंजीयन समस्त दस्तावेज के साथ नगर पालिका में कराएं अन्यथा बिना पंजीकृत हुए वह अपना व्यवसाय संचालित नहीं कर सकेंगे।

दरअसल अभी शहर की हर गली मोहल्ला की पड़ताल करें तो कबाड़ा खरीदने और बेचने वाले दुकानदार मिल जाएंगे। और अक्सर शासकीय संपत्ति या स्थायी सामग्री को जब अज्ञात चोर चुराते हैं तो वह कबाड़ियों के यहां बेचकर इसके पैसे वसूलते हैं, और कबाड़ी यह समझ कर माल खरीदते हैं कि माल बेचने वाले का ही होगा। ऐसे में जब पुलिस बाद में इन कबाड़ियों का रिकॉर्ड खंगालती है तो वह उपलब्ध नहीं हो पाता।

ऐसे में अब बड़ी कार्रवाई करने की तैयारी नगर पालिका कर रही है। उसकी अहम वजह यह है कि जब इस संबंध में एसपी से कलेक्टर रविंद्र कुमार चौधरी को जानकारी मिली तो उन्होंने सीधे सीएमओ नगर पालिका डॉ केशव सिंह सगर से कहा कि क्या नगर पालिका के पास कबाड़ा बेचने और खरीदने वालों का रिकॉर्ड है क्या।

इसका जबाब नगर पालिका के अधिकारी दे नहीं सके, क्योंकि कोई भी कबाड़ा की दुकान नगर पालिका में पंजीकृत ही नहीं है। ऐसे में कलेक्टर रवींद कुमार चौधरी ने सख्ती से कहा कि आज से ही कार्रवाई शुरू करें। और पता करें कि नगरीय क्षेत्र में कितने कबाड़ी काम कर रहे हैं और इनके यहां जाकर पड़ताल भी करें।

तब सीएमओ केशव सिंह सगर ने नगर पालिका के अमले को कार्रवाई के निर्देश दिए और सोमवार शाम नगर पालिका के अधिकारियों ने यह कार्रवाई शुरु की तो पता चला कि एक भी कबाड़े वाले के पास नगर पालिका का पंजीयन नहीं है। वह अवैध रुप से दुकानों का संचालन कर रहे है। जिस पर उन्होंने कबाड़ा व्यवसायियों को सख्त हिदायत देकर 7 दिन में अपना पंजीयन कराने के निर्देश दिए।

लक्ष्मी निवास स्थित कृष्णा ट्रेडर्स के पास टीम पहुंची तो वहां विवेक राठौर बैठे मिले। उनसे जब पूछा कि आपने दुकान का पंजीयन कराया क्या तो वह बोले, काहे का पंजीयन हम तो वर्षों से ऐसे ही काम कर रहे हैं। हमने दुकान स्थापना का पंजीयन लिया है। इसके बाद नपा के योगेश शर्मा बोले- दुकान स्थापना से काम नहीं चलना आप जो काम यहां कबाड़ा का कर रहे हैं इसका पंजीयन कराएं ,7 दिन का वक्त है, अन्यथा कार्रवाई को तैयार रहे।
G-W2F7VGPV5M