SHIVPURI NEWS - भाभी मां ने अपने बॉयफ्रेंड से कराया गोद ली बेटी का बलात्कार, इंद्रप्रस्थ कॉलोनी का मामला

Bhopal Samachar

शिवपुरी। खबर भारतीय समाज के रिश्तो को शर्मसार करने वाली है कि एक तीन बच्चों की मां ने अपनी गोद ली नाबालिग बेटी का अपने बॉयफ्रेंड से बलात्कार करवा दिया,मामला शिवपुरी के ग्रीन व्यू होटल के पास स्थित इंद्रप्रस्थ कॉलोनी से है,इसमें सबसे बड़ी हैरानी वाली बात यह है कि इस मामले को पिता ने उजागर किया है। कोतवाली पुलिस ने इस मामले में लापरवाही बरती है,इसी कारण सीडब्ल्यूसी अध्यक्ष डॉ सुषमा पांडे का कहना है कि इस मामले को लेकर पुलिस अधीक्षक को पत्र लिखा गया।

समझे इस कहानी के पात्रों को
इंद्रप्रस्थ कॉलोनी में रहने वाले एक विवाहित युवक ने अपने चाचा की लडकी को गोद लिया था। युवक ने बताया कि जिस लडकी को मैने गोद लिया था उसके माता पिता अर्थात मेरे चाचा—चाची का देहांत हो गया था और उसे एडवोकेट शैला अग्रवाल के अनाथ आश्रम से मैने गोद लिया था। वैसे तो रिश्ते में मेरी बहन लगती थी,लेकिन गोदनामे के बाद वह मेरी बेटी हुई। बेटी को मैने शहर के प्रसिद्ध एक निजी विद्यालय में पढ़ाया और उसको उच्च शिक्षा और पूरी व्यवस्था प्रदान की,इस साल मेरी बेटी ने 11वीं क्लास के पेपर दिए है। वह 29 मार्च को अपनी मां भाभी के साथ दोपहर को फरार हो गई।

युवक ने बताया कि मेरी शादी को लगभग 10 साल हो चुके है ओर शादी के बाद मेरे तीन बच्चे हुए है। 29 मार्च की शाम में अपनी प्राइवेट जॉब से घर लौटा तो मेरे बच्चो और मां ने बताया कि माँ और दीदी बहुत देर से घर नहीं आई। मैंने अपने स्तर पर तलाश किया लेकिन नहीं मिली तो मेने अपनी 30 साल की पत्नी और 16 साल की नाबालिग बेटी की गुमशुदगी की रिपोर्ट सिटी कोतवाली में दर्ज कराई थी।

युवक कहना था कि 30 मार्च की शाम को मेरी पत्नी और बेटी जीआरपी पुलिस ने दिल्ली वाली ट्रेन में मुरैना मे पकड लिया और कोतवाली पुलिस को सूचित किया। कोतवाली पुलिस ने मेरी पत्नी ओर बेटी को मुझे सौंप दिया,बातो बातो में मुझे जानकारी मिली कि यह एक लडके के साथ फरार हुई थी,कोतवाली पुलिस ने नाबालिग बेटी का मेडिकल नहीं कराया और पूछताछ भी की,जबकि में पुलिस से कह रहा था कि मुझे पूरी जानकारी चाहिए कि यह किसके साथ थी और रात भर कहा रूकी ओर दिल्ली किसके साथ और क्यो जा रही थी।

युवक पहुंचा,सीडब्ल्यूसी ऑफिस और शिकायत दर्ज कराई
बताया जा रहा है कि युवक इस मामले को लेकर सीडब्ल्यूसी के ऑफिस पहुंचा और सीडब्ल्यूसी शिवपुरी की अध्यक्ष डॉ सुषमा पांडे से इस मामले की शिकायत दर्ज की और अपनी नाबालिग बेटी की काउंसलिंग की बात कही।

16 वर्षीय नाबालिग पहुंची सीडब्ल्यूसी ऑफिस हुआ खुलासा
आज सीडब्लूसी आफिस में नाबालिग ने काउंसिलिंग के दौरान बताया कि वह 29 मार्च को अपनी भाभी मां के साथ दोपहर को घर से निकली और ग्वालियर की बस में बैठ गई,रास्ते में भाभी मां ने अपने बीएफ को फोन लगाया और अपने ग्वालियर आने की सूचना दी। ग्वालियर पहुंचते ही भाभी मां का बॉयफ्रेंड राज धाकड़ निवासी बैराड के आया और हमें अपने दोस्त के रूम पर ले गया।

ग्वालियर पहुंचते ही भाभी ने अपने मंगलसूत्र ओर साडी उतार दी और लड़कियों वाले कपड़े पहन लिए और मुझे सबसे अंदर वाले कमरे में बंद कर दिया और ताला लगाकर घूमने चले गए। देर रात लौटकर आए तो राज धाकड मेरे कमरे में आया और मेरे साथ रात भर बलात्कार किया। पीडिता ने बताया कि मे रोती रही भाभी मां के लिए चिल्लाती, रही लेकिन ना ही मेरी राज धाकड ने सुनी और ना ही भाभी मां ने

हमें दिल्ली ले जा रहा था राज धाकड
पीड़िता ने बताया कि राज धाकड हमें दिल्ली ट्रेन से ले जा रहा था,मै सीट की ट्रेन पर बैठी बैठी रो रही थी,तभी एक अंकल आए और मेरे से रोने का कारण पूछने लगे, मैंने सारी घटना बता दी वह अंकल वकील थे,उन्होने जीआरपी पुलिस को फोन लगा दिया। जीआरपी पुलिस ने हमे पकड लिया और मैंने सारी बात बता दी।

कोतवाली पुलिस ने नहीं सुनी,
पीडिता ने बताया कि मैंने सभी बाते कोतवाली पुलिस को बता दी थी,मे लडके पर कार्यवाही कराना चाहती थी,लेकिन मेरी सुनी नहीं गई,भाभी मां और लडके की सूनी गई। मुझे और मेरी भाभी को घर भेज दिया।

भाभी मां मुझे अनाथ आश्रम भेजने की धमकी देती थी
पीडिता ने बताया कि भाभी मां मुझे अनाथ आश्रम भेजने की धमकी देती थी,इसलिए मैं उनकी सारी बात मानते हुए उनके साथ गई। राज धाकड से भाभी मां का पिछले 2 साल से अफेयर चल रहा था,वह किसी शादी में भाभी मां को मिला था। जब हम घर पर अकेले होते थे तब वह हमारे घर पर आता था। भाभी मां मुझे धमकी देकर डरा देती थी कि किसी से कुछ बोला तो तुझे अनाथ आश्रम भेज दूंगी।

मेरे से बच्चे पैदा कराकर बेचने की थी प्लानिंग
पीडिता ने बताया कि भाभी मां के तीन बच्चे हो चुके थे इसलिए उन्होंने ऑपरेशन करवा लिया था उनको अब बच्चे नहीं होते इसलिए मेरे को अपने साथ ले गई थी। मेरा बलात्कार भी सिर्फ बच्चे पैदा करने के लिए करवाया था। बच्चा पैदा होने के बाद राज और भाभी मां कह सकती थी कि यह हमारा बच्चा है जिससे राज के परिवार वालो को कोई आपत्ति ना हो,क्यों की राज यह बात अपने परिवार से छुपाना चाहता था कि जिससे उसने भागकर शादी की है वह शादी शुदा होकर तीन बच्चों की मां है।  बच्चे पैदा होने के बाद मुझे बेचने की प्लानिंग थी।

इनका कहना है
नाबालिग का ग्वालियर मे बलात्कार किया गया है उसके बलात्कार में उसकी भाभी ने सहयोग किया है,कोतवाली पुलिस ने इस मामले में गंभीर लापरवाही बरती है,नाबालिग को सीडब्ल्यूसी के समक्ष पेश करना था लेकिन ऐसा नहीं किया गया,अगर उसका भाई विरोध नहीं करता तो यह मामला उजागर नही होता। सिटी कोतवाली पुलिस की इस लापरवाही के लिए पुलिस अधीक्षक को पत्र भेजा गया है।
डॉ सुषमा पांडे,सीडब्ल्यूसी अध्यक्ष जिला शिवपुरी 
G-W2F7VGPV5M