SHIVPURI NEWS - अपहत काव्या धाकड़ की जयपुर से लीड मिली, 2 युवको के साथ रेलवे स्टेशन पर हुई कैमरो में कैद

Bhopal Samachar

शिवपुरी। शिवपुरी के बैराड़ थाना सीमा में रहने वाले स्कूल संचालक रघुवीर धाकड़ की बेटी काव्या धाकड़ का राजस्थान के कोटा शहर से अपहरण हो गया,इस मामले में पुलिस को जांच करते हुए काव्या की लीड मिली है। काव्या को जयपुर के दुर्गापुरा रेलवे स्टेशन से दो लडको के साथ बहार जाते हुए दिख रही है वही काव्या का एक फुटेज जयपुर के ही अहिंसा सर्किल पर मिला है और वहां भी वह 2 युवकों के साथ दिख रही है।  

राजस्थान पुलिस को जांच के दौरान जो कैमरो में कैद जो वीडियो फुटेज मिले है उसमें काव्या दो लडको से बातचीत करते हुए जा रही है। काव्या ने जींस और टीशर्ट पहना है। इस फुटेज को देखकर कहीं से कहीं यह प्रतीत नहीं हो रहा है कि काव्या को दबाव में डालकर ले जाया जा रहा है। इन फुटेज में काव्या युवकों से आगे बातचीत करते हुए चल रही है।

स्कूल संचालक की बेटी को बंधक बनाकर मांगे 30 लाख

बैराड़ के लॉर्ड लखेश्वरी स्कूल का संचालन करने वाले रघुवीर धाकड़ की छोटी बेटी काव्या धाकड उम्र 21 साल का अपहरण कोटा से हो गया। अपहरण करने वालो ने रघुवीर धाकड़ के मोबाइल पर काव्या के हाथ पैर बंधे हुए फोटो भेजे थे और 30 लाख रुपए की मांग की थी। इस मामले में कोटा शहर के विज्ञान नगर थाने में काव्या के अपहरण का मामला दर्ज किया गया। कोटा पुलिस ने इस अपहरण काण्ड का पर्दाफाश करने के लिए कदम बढ़ाया तो कुछ सवालों को लेकर उलझ गई है।

यह है वह सवाल

  • छात्रा के माता-पिता ने जिस कोचिंग इंस्टीट्यूट का नाम बताया,
  • उसमें छात्रा का रजिस्ट्रेशन नहीं मिला, ऐसा क्यों?
  • छात्रा ने हॉस्टल का गलत नाम क्यों बताया ?
  • अगर हॉस्टल में नहीं तो छात्रा कोटा में कहां रह रही थी ?
  • आखिर किस जगह से छात्रा का अपहरण हुआ ?
  • इन सभी सवालों के जवाब पुलिस भी तलाश रही है।

काव्या के अपहरण की विवेचना में यह महत्वपूर्ण तथ्य सामने आए है

इस मामले को लेकर केन्द्रीय मंत्री ज्योरिादित्य सिंधिया ने काव्या की सकुशल वापिसी को लेकर राजस्थान के मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा से फोन पर बातचीत की छात्रा के पिता रघुवीर धाकड़ ने बताया- दो साल पहले बेटी इंदौर में रहकर नीट की तैयारी कर रही थी। यहां जरियाखेड़ा गांव के रहने वाला रिंकू धाकड़ ने बेटी को परेशान किया था। इसकी शिकायत इंदौर पुलिस में दर्ज कराई थी। इसके बाद बेटी के नंबर पर अनुराग सोनी और हर्षित नाम के लड़कों ने धमकी दी थी। इसके बाद बेटी को इंदौर से वापस शिवपुरी बुला लिया था। बेटी 6 महीने तक शिवपुरी रही थी। इसके बाद सितंबर 2023 में नीट की तैयारी के लिए कोटा भेज दिया था।
G-W2F7VGPV5M