SHIVPURI NEWS - गांव में डाली थी हथियारबंद डकैतों ने डकैती, दहशत के 45 मिनट, पुलिस के हाथ खाली

Bhopal Samachar
शिवपुरी। शिवपुरी जिले के पोहरी अनुविभाग के बैराड़ थाना सीमा में आने वाले गांव सढ में एक माह पूर्व 17 दिसंबर को आधा दर्जन हथियारबंद बदमाशों ने गांव के घरों के चार घरों में लूटपाट की घटना को अंजाम दिया था। इस घटना में प्रमुख बात रह रही है थी की पुलिस को मौके पर पहुंचने में 10 घंटे से भी अधिक समय लगा था,वही बैराड थाना पुलिस ने एक ओर कदम बढाते हुए इस गांव को लूटने वाली घटना को चोरी की एफआईआर दर्ज की थी,लेकिन अभी तक इस मामले को पुलिस ने अभी तक ट्रेस नही किया है अभी तक इस घटना को अंजाम देने वाले आरोपियों ने पकड नही सकी है।

जैसा कि विदित है कि बैराड थाना सीमा में आने वाले ग्राम सढ़ में रात दो बजे आधा दर्जन हथियारबंद बदमाशों ने हमला बोल दिया था। बदमाशों ने हथियार की नोंक पर डरा धमका कर गांव के ख्याली आदिवासी, मूला आदिवासी, केपी सिंह आदिवासी व वीरा आदिवासी के घर में डकैती की वारदात को अंजाम दिया था।

बदमाश ख्याली आदिवासी के घर से 55 हजार रुपये नगद, मूला आदिवासी के घर से तीन महिलाओं के सोने-चांदी के जेवर व 50 हजार रुपये नगद, केपी सिंह आदिवासी के घर से मोबाइल व वीर आदिवासी के घर से मोबाइल की बैटरी लूट कर ले गए। पीड़ित ग्रामीणों का कहना है कि उन्होंने रात को ही 4 बजे मामले की जानकारी पुलिस को दे दी थी, लेकिन पुलिस रविवार की दोपहर एक बजे गांव में पहुंची थी।

इस मामले में खास बात यह रही कि जिस घर में बदमाश डकैती की वारदात को अंजाम देते गए और उस घर से निकलते समय वहां एक हथियारबंद बदमाश छोड़ते गए ताकि वह लोग न तो चीख पुकार कर सकें और न ही मदद के लिए गांव वालों को एकत्रित कर सकें।

कुछ ने चेहरा डंक रखा था तो कुछ का खुला था

पीड़ित परिवारों को मानें जो बदमाश गांव में डकैती डालने के लिए आए थे, उनमें से कुछ लोगों ने अपना चेहरा ढक रखा था, वहीं कुछ लोगों ने चेहरा खोल कर रखा था। गांव वालों का कहना है कि बातचीत के दौरान बदमाश की बोली विजयपुर सबलगढ़ तरफ की लग रही थी। गांव वालों को संदेह है कि संभवत इन बदमाशों को स्थानीय बदमाशों ने ही बुला कर वारदात को अंजाम दिलवाया होगा। इसी कारण कुछ मुंह पर कपड़ा बांचे हुए थे और कुछ खुला रखे हुए थे।

डकैती के मामले में पुलिस ने दर्ज की चोरी की एफआईआर ग्रामीण जिस तरह से पूरी घटना आन कैमरा बता रहे हैं, उनके अनुसार यह पूरा मामला गांव में डकैती डाले जाने का है, परंतु पुलिस सूचना दिए जाने के करीब दस घंटे बाद गांव में पहुंची थी पुलिस ने इस गंभीर मामले में सिर्फ चोरी की धाराओं में एफआइआर दर्ज कर पूरे मामले को खत्म करके रख दिया है फिर भी पुलिस को 30 दिन बार भी इस मामले में सफलता नही मिली है।

इनका कहना है
इस मामले में मुझे याद है की डकैती का नहीं चोरी का मामला दर्ज किया गया था हम अभी चाइना हत्या कांड के मामले में लगे हुए थे में थाना प्रभारी से बात कर इस मामले को भी दिखवा लेता हूॅ। बहुत ही जल्द इस मामले का भी खुलासा करेगें।
सुजीत सिंह भदौरिया एसडीओपी पोहरी
G-W2F7VGPV5M