मेडिकल कॉलेज शिवपुरी की केंसर OPD में पहुचें 4 हजार मरीज, सबसे ज्यादा मुंह का केंसर- Shivpuri News

NEWS ROOM
शिवपुरी।
शिवपुरी का मेडिकल कॉलेज शिवपुरी के लोगो के लिए धीरे धीरे वरदान बनता जा रहा है। कॉलेज के मेडिकल डिर्पोटमेंट की ओपीडी में डेढ साल में 4 हजार मरीज अपना इलाज कराने पहुंचे है। इसमें 957 मरीजो के कीमौथेरपी लग चुकी है। मेडिकल कॉलेज जून 2021 में शुरू हुआ था। धीरे धीरे कॉलेज में स्वास्थय सुविधाए बडती जा रही है।

मेडिकल कॉलेज के केंसर स्पेशलिस्ट डॉ धीरेन्द्र सचान ने बताया कि मेडिकल कॉलेज जून 2021 में शुरू हुआ था। कॉलेज में 957 मरीजो की कीमोथैरपी हो चुकी है ओर लगभग 4 हजार केंसर से पीडित मरीज ओपीडी में आ चुके है। जिनमे से अधिकांश मरीज मुंह के केंसर के है जिनमें दांत में घाव होने या उससे होने वाले घाव की वजह से केंसर रोगी है। महिलाओ में ओवरी,ब्रेस्ट और बच्चेदानी कैंसर के मरीज मिल रहे है। यादि कैंसर की जानकारी शुरूवात में ही मिल जाए तो उसका इलाज संभव है। मेडिकल कॉलेज में यादि रेडियोथैरपी मशीन आ जाए तो मरीजो को बाहर नही जाना पडेगा।

दांतो के छोला छाप डॉक्टर बढा रहे है कैंसर का खतरा

शिवपुरी के ओमस डेंटल हॉस्प्टिल के डारेक्टर डॉक्टर नीतेश शर्मा ने बताया कि मुंह का कैंसर दांतो में हुए समान्य घाव से भी हो जाता है। यदि दांत डैमेज हो जाए या आधा टूट जाए तो उसे किसी डेटिस्ट को ही दिखाना चाहिए,अन्यथा बिना डिग्री वाले ठेला और छोला छाप डॉक्टर टूटे दांत उसी में छोड देते हैं,वो घाव बनकर या जीभ में घाव करे उसे कैंसर में तब्दील कर देता हैं ऐसे कई मरीज अब देखने को मिल रहे है जिन्है ऐसी लापरवाही के कारण कैंसर हुआ है।
G-W2F7VGPV5M