SHIVPURI NEWS- भोपाल में बनी पिछोर विधानसभा जीतने की रणनीति

उपदेश अवस्थी, भोपाल
। जहां एक तरफ राजधानी में शिवराज सिंह सरकार के विरुद्ध चल रहे विरोध प्रदर्शन को देखकर कमलनाथ का कॉन्फिडेंस बढ़ता जा रहा है वहीं दूसरी ओर भारतीय जनता पार्टी की कार्यकारिणी बैठक में मध्य प्रदेश की 320 विधानसभा सीटों में से 200 सीटों पर जीतने की रणनीति बनाई गई। इन सीटों में कमलनाथ की छिंदवाड़ा, डॉक्टर गोविंद सिंह की लहार और के पी सिंह की पिछोर विधानसभा सीट भी शामिल है। 

शिवपुरी में कहा जाता है कि जब तक की केपी सिंह है तब तक पिछोर विधानसभा में भारतीय जनता पार्टी का झंडा कभी नहीं लहरा सकता परंतु इस बार काफी कुछ बदल गया है। पिछोर विधानसभा पर उमा भारती का कॉपीराइट हुआ करता था। इस बार पिछोर सीट किसी नेता के कोटे में नहीं होगी। यानी पिछोर विधानसभा सीट भाजपा में लोधी मुक्त हो जाएगी। 

दूसरी सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि पूरे देश में एक अलग लहर चल रही है। क्या पता कब क्या वायरल हो जाए और जनता को उसका क्या अर्थ समझा दिया जाए। अब तो पिछोर की जनता के पास भी एंड्राइड मोबाइल फोन है।इस लहर ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को हार का स्वाद चखा दिया, अतः अब असंभव कुछ भी नहीं कहा जा सकता। देखते हैं भाजपा की तरकस में कौन सा तीर निकलता है।