समाज सेवी राकेश जैन की पुण्यतिथि पर उत्कृष्ट ढंग से जीने वाले लोगों को किया प्रेम रत्न से सम्मानित- Shivpuri News

शिवपुरी।
जीवन उत्थान के हर आयाम में अपना परचम फहराने वाले प्रेम स्वीट्स परिवार के युवा राकेश जैन की प्रथम पुण्यतिथि उनके परिवारजनों ने उनकी आत्मा की शांति के लिए अनूठे अंदाज में मनाई। पुण्यतिथि के अवसर पर शहर के 10 ऐसे कर्मवीरों को सम्मानित किया गया। जिनमें से कुछ ने पीड़ित मानवता की सेवा में अपना अमूल्य योगदान दिया है। वहीं अपनी सकारात्मकता, हिम्मत और जिजीविषा के बल पर अपने व्यक्तित्व का निर्माण करने वाले लोग भी सम्मानित होने वालों में शामिल हैं।

पुरस्कार का नाम प्रेम रत्न पुरस्कार दिया गया है। यह नामकरण इसलिए क्योंकि राकेश जैन अपने पिता प्रेम के अनमोल रत्न थे। सम्मान समारोह के लिए स्थल का चयन भी उस अनुरूप किया गया। गरिमापूर्ण समारोह जैन अतिशय तीर्थ श्री शांतिनाथ जिनालय सेसई पर आयोजित किया गया। सम्मान समारोह में अतिथि के रूप में कोलारस विधायक वीरेंद्र रघुवंशी, कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह, एसपी राजेश सिंह चंदेल, भाजपा जिलाध्यक्ष राजू बाथम, समाजसेवी और श्वेताम्बर मूर्ति पूजक समाज के अध्यक्ष तेजमल सांखला, सूर्यकुमार जैन एडवोकेट शामिल हुए। इस अवसर पर विधायक वीरेंद्र रघुवंशी ने अपने उदबोधन मेंं कहा कि कम समय में ही स्व. राकेश जैन अपनी पहचान बनाने में सफल रहे। अतिथियों ने उनके व्यक्तित्व को प्रेरणास्पद बताया और कहा कि उनके जीवन की गहराई से लोगों को प्रेरणा लेना चाहिए।

बहुत कम लोग ऐसे होते हैं, जो जीवन के हर क्षेत्र में प्रवीण होते हैैं। राकेश जैन ने अपने 45 साल के जीवन काल में जहां व्यवसायिक क्षेत्र में अपनी विशिष्ट पहचान बनाई। वहीं सामाजिक और धार्मिक गतिविधियों में भी वह अग्रणी रहे। एक साल पहले जब उनका असामायिक निधन हृदयाघात से हुआ था, उस समय शहर में शौक की लहर दौड़ गई थी। किसी को विश्वास भी नहीं हुआ था कि हंसता खेलता संवेदनशीलता की मिसाल यह व्यक्तित्व अचानक दुनिया से अलविदा कह देगा। लेकिन ईश्वर के विधान के आगे सभी को सिर झूकाना होता है।

उनका जीवनकाल भले ही अधिक लंबा न रहा हो। लेकिन गहराई पर्याप्त रही। यहीं कारण है कि उनके अवसान के एक साल बाद भी शहरवासी उन्हें भूले नहीं है। उनकी पुण्यतिथि के अवसर पर उनके पिता प्रेमचंद जैन, भाई राजेश जैन और प्रदीप जैन आदि ने यह तय किया कि उनके व्यक्तित्व के अनुरूप ही पुण्य तिथि मनाई जाए। यहीं कारण रहा कि शहर में सही मायनों में समाज सेवा करने वाले और अपने व्यक्तित्व का निर्माण करने वाले लोगों को प्रेम रत्न पुरस्कार के लिए चुना गया। कार्यक्रम की रूपरेखा सौरभ सांखला ने प्रस्तुत की। जबकि आभार प्रदर्शन राकेश जैन के बड़े भाई राजेश जैन ने किया।

ये विशिष्ट हस्तियां हुई सम्मानित

प्रेम रत्न पुरस्कार से सम्मानित होने वालों में मानसिक विकलांगों की सेवा में जुटे अपना घर परिवार के सदस्य गौरव जैन, गौ संरक्षण के लिए बेहतर कार्य कर रहे प्रवीण गुप्ता, सड़कों पर चोटिल और घायल पशुओं को निशुल्क एम्बुलेंस के माध्यम से उपचार के लिए लाने ले जाने वाले ललित गर्ग, शहर के चौराहों पर ग्रीष्म रितू में वाटर कूलर की सेवा नागरिकों को उपलब्ध कराने वाले एसकेएस चौहान के अलावा शारीरिक सौष्ठव प्रतियोगिता में प्रदेश में अव्व्ल रहने वाले आर्यन दुबे, निशुल्क शिक्षा और पर्यावरण के क्षेत्र में उत्कृष्ठ कार्य करने वाले शिवा पाराशर,

कोरोना काल में ऑनलाइन धार्मिक कक्षाएं लेकर लोगों को संस्कारित करने में जुटे शैलेंद्र जैन सोनू, मूकबघिर दिव्यांग होने के बावजूद भी अपने हौसले से फूटबाल का नेशनल खेलने वाले मयंक अग्रवाल और न्यूजीलैंड में शिवपुरी का परचम फहराने वाली तीन गोल्ड मेडलिस्ट जीतने वाली मुस्कान खान भी शामिल हैं। इसके अलावा अपने हौसले दृढ़ता और संकल्प से कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी पर जीत हासिल करने वाली अंजू बंसल को भी प्रेम रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया गया।