Pichhore News- पेड़ पर लटकी मिली सजायाफ्ता युवक की लाश, 2 बच्चों की मां को लेकर भागा था

पिछोर।
खबर शिवपुरी जिले के पिछोर थाना क्षेत्र के एक गांव में एक युवक लाश पेड़ पर लटकी मिली है। मृतक हत्या के आरोप में आरोपी था। मृतक अपने गांव की एक 2 बच्चों की मां को भगाकर ले गया था। मृतक 2 दिन पूर्व ही अहमदाबाद से लौटा था। मृतक की परिजनों ने हत्या की आशंका जताई है और कहां कि उसे 11 जनवरी को धमकी दी गई थी।

जानकारी के अनुसार पिछोर थाना क्षेत्र की सीमा में आने वाले फील्ड फायरिंग रेंज मे एक बरगद के पेड़ पर युवक की लाश शनिवार की सुबह 7 बजे लटकी मिली है। युवक की पहचान घटवरा गांव का भरत लोधी के रूप में हुई थी। भरत अपने गांव में पास में रहने वाली 2 बच्चों की मां प्रियंका लोधी को अपने साथ 3 माह पूर्व अपने साथ भगा ले गया था।

बताया जा रहा है कि भरत लोधी अपने साथ अहमदाबाद लेकर गया था वही यह मजदूरी का कार्य कर रहे थे। 1 माह पूर्व यह दोनो ग्वालियर आए और एक शपथ पत्र वनवाकर परिजनों को प्रियंका ने भेजा था कि में अपनी मर्जी से भरत लोधी के साथ रह रही हूं।

जानकारी मिल रही है भरत लोधी और प्रियंका अपने आप को पति पत्नी बताकर रह रहे थे,इसलिए प्रियंका अपने बच्चो को लेने अपने मायके आई थी और प्रियंका के साथ भरत लोधी भी आया था वह अपने गांव आ गया था। लेकिन प्रियंका के पति कल्याण का जानकरी मिल गई थी उसकी पत्नी मायके में आ गई तो वह उसे झांसी से ले आया था।

वही परिजनों ने बताई एक अलग कहानी

मृतक के भाई अरविंद लोधी ने बताया है कि उसके पास बीते 11 जनवरी को भाई भरत का फोन आया कि उसकी जान खतरे में है। उसे प्रियंका का देवर राहुल लोधी निवासी चिलगांवा,रामकुमार लोधी बदहाबास, साहब सिंह लोधी निवासी बाचरौन मरना चाहते है उसे बचा ले। जिसके चलते युवक के भाई ने इस मामले की सूचना पिछोर थाना पुलिस में लेते हुए भाई से संपर्क नहीं होने की बात कही।

अविवाहित था, जेल जाने के कारण नहीं हुई शादी

मृतक भरत लोधी अविवाहित था और उसके दोनो भाईयो की शादी हो चुकी थी,बताया जा रहा है कि मृतक भरत लोधी एक हत्या के मामले में न्यायालय ने उसे आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी और वह चार साल जेल की सजा काट चुका था वर्तमान में जमानत पर चल रहा था। जेल जाने कारण उसकी शादी नहीं हुई थी।

इसलिए उसका अफेयर 2 बच्चों की मां के साथ चल रहा था। बताया जा रहा है कि जब भरत प्रियंका को लेकर भाग गया था तो प्रियंका पति और उसका परिवार भरत के परिवार से विवाद करते थे। इस कारण भरत का विवाद भी अपने भाईयो से इस कारण होता रहता था। अंत में पुलिस ने इस मामले में लाश का पीएम कराते हुए इस मामले की जांच में जुट गई है।