भोपाल इंटरसिटी एक्सप्रेस रात में चले, शिवपुरी को जंक्शन बनाने का सर्वे दिल्ली में धूल खा रहा है- Shivpuri News

शिवपुरी।
शिवपुरी रेलवे ट्रैक को पिछड़ा दिया है शिवपुरी को अगर जंक्शन बना दिया जाए तो शिवपुरी जिले का जंक्शन सबसे कम किलोमीटर में 3 स्टेट को जोड़ने वाला जंक्शन बन सकता है। यूपी मप्र और राजस्थान तीन स्टेट आसानी से जोडे जा सकते है। अगर सड़क मार्ग की बात करे तो मात्र 250 किमी में तीन स्टेट जुड जाते है।

10 साल पहले सवाई माधोपुर से शिवपुरी होते हुए झांसी की कनेक्टिविटी का सर्वे करने प्रस्ताव तैयार हुआ था,लेकिन इस सर्वे का कुछ पता नही है। वही शिवपुरी से राजधानी को जाने वाली भोपाल इंटरसिटी एक्सप्रेस को कभी भी बंद कर दिया जाता है। इससे लोगों को परेशानी का सामना करना होता है। अगर रात में प्रतिदिन भोपाल के लिए रेलगाड़ी जाए तो लोगो को बहुत फायदा होगा।

शिवपुरी से भोपाल तक की यात्रा करने के लिए एकमात्र ट्रेन इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन है। इस ट्रेन से यात्रा करने पर सुबह 8 बजे लेकर दोपहर 3:30 बजे तक का समय ट्रेन में ही निकल जाता है। सारा दिन यात्रा में ही खराब हो गया तो व्यापारी कैसे भोपाल से खरीदारी करें और अपना काम पूरा निपटाए। इसलिए इंटरसिटी ट्रेन को यदि रात में शुरू किया जाए तो सुबह भोपाल पहुंचकर लोग अपने रोजमर्रा के काम निपटा पाएंगे। यह सुझाव चेंबर ऑफ कॉमर्स संस्था की बैठक में चेंबर के सदस्यों द्वारा रेलवे संचालन में सुधार करने दिए।

दरअसल इंटरसिटी ट्रेन का संचालन कई बार बीना तक कर दिया जाता है तो कई बार इसे गुना तक ही छोड़ दिया जाता है। ऐसे में जो यात्री भोपाल जाना चाहते हैं वह कई बार इसलिए परेशान होते हैं, क्योंकि उन्हें गंतव्य तक ट्रेन ही नहीं मिलती। बीच रास्ते में उन्हें गुना उतरना पड़ता है ऐसे में यदि ट्रेन का नियमित संचालन हो तो शहर के लोगों को बेहतर सुविधा मिलेगी।

बैठक में सुझाव देते हुए चेंबर के वरिष्ठ सदस्य सर्वेश अरोरा ने कहा कि अभी सुबह 8 बजे इंटरसिटी ट्रेन शिवपुरी से भोपाल के लिए रवाना होती है। ऐसे में इसे यदि रात को 11-12 बजे के आसपास इसे कर दिया जाए तो शिवपुरी से सुबह 6-7 बजे तक आसानी से गोपाल पहुंचा जा सकता है। इसका सबसे बड़ा फायदा व्यापारियों और लोगों को यह होगा कि वह दिन भर के काम जल्द भोपाल में पूरा करके वापस वहां से आ सकते हैं।

भोपाल से वापस इंटरसिटी चलने का समय दोपहर 3:30 बजे है।यदि इसको भी शाम 6 बजे के बाद कर दिया जाए तो सारा दिन शहरवासियों का खराब होने से बचेगा और भोपाल से भी वह शिवपुरी के लिए सही समय पर आ सकेंगे। अभी दिन में भोपाल की ट्रेन होने से यात्री कम रहते हैं, यदि यह रात में शुरू हो जाए तो इससे रेल में यात्रियों के जाने की संख्या भी कई गुना बढ़ जाएगी।

इंदौर -चंडीगढ़ सिर्फ एक दिन,इसे प्रतिदिन किया जाए

चेंबर ऑफ कॉमर्स के मानसेवी सचिव ने बताया कि इस दौरान सदस्यों ने प्रस्ताव भी रखा की वर्तमान में इंदौर चंडीगढ़ एक बहुत अच्छी ट्रेन है। जो केवल सप्ताह में 1 दिन चलती है। उसको सप्ताह में कम से कम 3 दिन चलाने के लिए प्रस्ताव रखा जाए। अभी 1 दिन इस ट्रेन के चलने से दिल्ली तक की सीधी कनेक्टिविटी 6 दिन नहीं मिल पाती। शिवपुरी के बहुत से छात्र और युवा साउथ में बेंगलुरु हैं और साउथ को जोड़ने के लिए नई दिल्ली से बाया ग्वालियर, गुना बेंगलुरु के लिए नई ट्रेन चलाने का प्रस्ताव रखा जाए तो इससे बड़ी राहत मिलेगी।

भोपाल बैठक में प्रस्ताव रखे जाएंगे

चेंबर ऑफ कॉमर्स की कार्यकारिणी की बैठक के दौरान कई बिंदुओं पर सदस्यों ने सुझाव दिए। इंटरसिटी ट्रेन सहित नई ट्रेनों के संचालन की भी बात आई। अब इस संदर्भ में 18 जनवरी को भोपाल रेल मंडल की होने वाली मीटिंग में उन बिंदुओं पर चर्चा कर प्रस्ताव दिए जाएंगे, ताकि व्यापारियों के साथ शहर वासियों को रेल सेवा का बेहतर लाभ मिल सके। -
विष्णु अग्रवाल, सदस्य रेलवे सलाहकार समिति, एवं मानसेवी सचिव, चेंबर ऑफ कॉमर्स, शिवपुरी

एक बार सवाई माधोपुर से ट्रैक बनने की चर्चा हुई

चेंबर के पदाधिकारियों और सदस्यों ने बैठक के दौरान सुझाव दिया कि अब से तकरीबन 10 साल पहले सवाई माधोपुर से शिवपुरी होते हुए झांसी की कनेक्टिविटी का सर्वे करने प्रस्ताव तैयार हुआ था। और वह रेल मंत्रालय दिल्ली को भी गया, अब तक इस संबंध में कोई जानकारी उन्हें नहीं है। यदि यह ट्रैक शुरू हो जाए तो निश्चित रूप से शिवपुरी जंक्शन बन जाएगा। और झांसी के साथ राजस्थान के कई हिस्सों में ट्रेनों का आना-जाना शुरू हो जाएगा, जो यातायात और सुविधाओं के दृष्टिकोण से बेहद अहम साबित होगा।