khaniyadhana News- ऐतिहासिक होगा ढाई दीप पंचकल्याणक महोत्सव, 1164 जैन प्रतिमाएं होंगी प्रतिष्ठित

खनियांधाना।
दिगम्बर जिनशासन में आत्मा से परमात्मा बनने की विधि बताने वाले जिनबिंम्ब पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सव को जैन दर्शन का सर्वोत्कृष्ट एवं सर्वोत्तम महोत्सव कहा गया है। जो मध्य प्रदेश ही नही भारत की सबसे स्वच्छ एवं सुंदर नगरी इंदौर में आयोजित होगा।

जिसमे धर्म नगरी खनियाधाना सहित संम्पूर्ण विश्व से हजारों की संख्या में जिनवाणी तत्वरसिक दिगम्बर जैन मुमुक्षु समाज एवं अखिल भारतीय जैन युवा फेडरेशन सम्मिलित होगा।

महामहोत्सव के मीडिया प्रभारी दीपकराज जैन एवं सचिन मोदी ने बताया कि वर्तमान शासन नायक 1008 तीर्थंकर महावीर भगवान के शासन काल मे श्री कुंदकुंद कहान दिगम्बर जैन शासन प्रभावना ट्रस्ट द्वारा आध्यात्मिक सतपुरुष गुरुदेवश्री कानजी स्वामी के पुण्य प्रभावना योग में विश्व की अद्वितीय रचना तीर्थधाम ढाई दीप जिनायतन का भव्य एवं मनोहारी निर्माण इंदौर में किया गया।

जिसका अन्तर्राष्ट्रीय श्री आदिनाथ दिगम्बर जिनबिंम्ब पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सव पंडित टोडरमल स्मारक ट्रस्ट के कुशल निर्देशन में 20 से 26 जनवरी तक किया गया है।

महोत्सव के महामंत्री एसपी भारिल्ल ने बताया कि सात दिवसीय महोत्सव में 20 जनवरी को ध्वजारोहण एवं गर्भ कल्याणक की पूर्व क्रियाए 21 को गर्भ कल्याणकए 22 को जन्म कल्याणकए 23 को तप कल्याणकए 24 एवं 25 को ज्ञान कल्याणक एवं 26 जनवरी को निर्वाण अर्थात मोक्ष कल्याणक महोत्सव मनाया जावेगा।
1164 प्रतिमाएं प्रतिष्ठित होंगी .

महोत्सव अध्यक्ष विपिन जैन ने बताया कि पंचकल्याणक विधि से प्रतिष्ठाचार्य बाल ब्रह्नचारी पण्डितश्री अभिनन्दनजी शास्त्री के प्रतिष्ठाचार्यत्व में कुल 1164 दिगम्बर जिनबिंम्बों की प्रतिष्ठा विधि की जावेगी।

इसी के साथ माता के 16 स्वप्न, अष्टकुमारिकाओं की सुंदर प्रस्तुति, इंद्र सभा एवं राज सभा, सुमेरु पर्वत पर 1008 कलशों से बाल तीर्थंकर का जन्माभिषेक, पालना झूलन, दीक्षा कल्याणक महोत्सव, आहार दान, भव्य एवं मनोहारी समवशरण की रचना सहित कैलाश पर्वत से मोक्ष कल्याणक का महोत्सव विशेष आकर्षण रहेंगे।
राष्ट्रीय विद्धवत समागम होगा

सात दिवसीय महोत्सव में गुरुदेवश्री के सीडी प्रवचनों सहित सौ से अधिक राष्ट्रीय विध्दवानों का समागम प्राप्त होगा। जिनके श्रीमुख से प्रतिदिन सुबह, दोपहर एवं रात्रि तीनो समय आध्यात्म की वर्षा होगी साथ ही जिनशासन की मंगल प्रभावना में समर्पित विध्वतगणों का सम्मान, विद्धवत संगोष्ठी, भव्य एवं आकर्षक चल समारोह, श्री जिनेन्द्र भक्ति सहित अनेकों कार्यक्रमो द्वारा जिनशासन की मंगल प्रभावना की जावेगी।

मंगल महोत्सव को लेकर धर्म नगरी खनियाधाना सहित मध्य प्रदेश ही नही पूरे भारत के साथ सम्पूर्ण विश्व की मुमुक्षु समाज में हर्ष का वातावरण बना हुआ है सभी आतुर हैं महामहोत्सव में सम्मिलित होने के लिए। खनियाधाना मण्डल एवं फेडरेशन से 500 से अधिक जैन बंधु इस आयोजन में सम्मिलित होंगे और जिनबिम्ब विराजमान भी करेंगे।