तेंदुए ने किया 12 भेड़ों का शिकार, समय पर नहीं पहुंचे डॉक्टर तड़प- तड़प कर मरी- Pichhore News

पिछोर।
खबर जिले के पिछोर अनुविभाग की खोड़ चौकी क्षेत्र के ग्राम टपरियन में भेड़ों के बाड़े में तेंदुए ने घुसकर करीब 12 भेड़ों को मौत के घाट उतार दिया। 24 के करीब भेड़ों को घायल कर दिया। भेड़ पालक ने क्षेत्र में पदस्थ वेटनरी डॉक्टर पर लापरवाही के आरोप लगाए हैं। इसकी शिकायत खोड़ चौकी समेत फॉरेस्ट ऑफिस में भी दर्ज कराई गई है।

जानकारी के अनुसार टपरियन गांव के रहने वाले ओमकार पाल और मनि पाल द्वारा भेड़-बकरियों का पालन किया जाता है। ओमकार पाल ने बताया कि मंगलवार रात डेढ़ बजे के करीब तेंदुआ भेड़ों के बाड़े में घुस गया। भेड़ों के बाड़े में मची अफरा-तफरी की आवाज सुनकर मैं घर से बाहर आया। देखा तो बाड़े में तेंदुआ भेड़ों को अपना शिकार बना रहा था। चिल्लाने की आवाज सुन कर मनि पाल भी आ गया। हिम्मत जुटा कर लाठी और पत्थर की मदद से तेंदुए को भगाया।

तेंदुए के हमले से 12 के करीब भेड़ों की मौत हुई है। वहीं, 24 के करीब भेड़ घायल हुई हैं। सुबह वेटनरी डॉक्टर को तेंदुए हमले की सूचना दी थी, लेकिन डॉक्टर समय पर नहीं पहुंचे। इसके चलते कई गंभीर रूप से घायल भेड़ों की मौत हो गई। वन विभाग को भी सूचना दी थी लेकिन वन विभाग के कर्मचारी भी सही समय पर नहीं पहुंचे। दोपहर के समय वन विभाग के अधिकारियों द्वारा मौके का मुआयना किया गया।

वन अधिकारी वृषभान कोरकू का कहना है कि मौके पर मुआयना करने पर पता लगा है कि पेड़ों पर किसी जंगली जानवर के द्वारा हमला बोला गया है। भेड़ पालक को नियमानुसार उचित मुआवजा उपलब्ध कराया जाएगा।