खनियाधाना में नया ट्रैक्टर बेच दिया आधी रेट में, डाटा ट्रेस के कारण आया चोर गिरफ्त मेंः 5 ट्रैक्टर बरामद- khaniyadhana News

खनियांधाना।
खनियाधाना पुलिस ने ट्रैक्टर चोरी करने वाले बदमाश को गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि उक्त बदमाश नए ट्रैक्टर को शोरूम से आधी कीमत पर बेच रहा था। खनियाधाना के जयपाल ने एक ऐसा ट्रैक्टर खरीदा था लेकिन जांच करने पर उसके कागज फर्जी निकले,इसकी शिकायत उसने पुलिस को की। पुलिस ने इस मामले में जांच की यह इस ट्रैक्टर के साथ दिए गए कागजात फर्जी निकले। साथ में आरोपी को पकड़ने उसके घर दबिश दी तो पुलिस को उसके घर से 4 ट्रैक्टर बरामद हुए हैं।

खनियाधाना स्थित गूढर पंचायत के नयागांव के जयपाल उम्र 25 साल पुत्र समरथ पाल ने अक्टूबर महीने में गूढर के ही संतोष लोधी से नया आयशर ट्रैक्टर खरीदा। संतोष ने यह ट्रैक्टर 3.70 लाख रु में दे दिया, जिसकी शोरूम कीमत लगभग दोगुनी है। संतोष ने ट्रैक्टर खुद का बताकर रजिस्ट्रेशन संबंधित कागज भी जयपाल को दिए। जब रजिस्ट्रेशन नंबर पोर्टल पर सर्च किया तो कोई रिकॉर्ड नहीं मिला। इसके बाद जयपाल ने 25 अक्टूबर को खनियाधाना पुलिस को सूचना दी। आरोपी ने बताया था कि यह ट्रैक्टर विदिशा जिले से आया हैं और वही से उसके दस्तावेज बने हैं पुलिस ने विदिशा आरटीओ (जिला परिवहन अधिकारी) से संपर्क किया। आरटीओ ने कागज फर्जी बताते हुए कहा कि संबंधित ट्रैक्टर का रिकॉर्ड उनके यहां नहीं है।

पुलिस ने उसी दिन विक्रेता संतोष लोधी के खिलाफ धारा 420 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर छानबीन प्रारंभ कर दी। विदिशा डीटीओ ने जब कागज फर्जी बताए तो पुलिस ने कूटरचित दस्तावेज से फर्जी रजिस्ट्रेशन दिखाकर ट्रैक्टर बेचने पर धारा 467 ए 468 और 471 का इजाफा कर लिया।

सीधे कंपनियों से संपर्क करेगी पुलिस, फिर एजेंसी वालों से भी पूछताछ

नए ट्रैक्टर आधी कीमत पर बेचने के मामले में पुलिस चेसिस व इंजन नंबर के आधार पर संबंधित निर्माता कंपनियों से संपर्क करने की बात कह रही है। कंपनी से पूछा जाएगा कि उन्होंने यह ट्रैक्टर किस एजेंसी या डीलर को भिजवाए। जानकारी मिलने पर संबंधित एजेंसी से भी पूछताछ होगी कि ट्रैक्टर किसे बेचे थे। उससे पता चलेगा कि यह ट्रैक्टर कब, कहां से चोरी हुए हैं और असली मालिक कौन है। यहां रजिस्टर्ड हैं तो कहां और यदि रजिस्टर्ड नहीं हैं तो कहां से और कैसे चोरी किए गए।

विक्रेता के घर के पीछे बिना नंबर के तीन और ट्रैक्टर मिले

खनियाधाना पुलिस ने 15 नवंबर को गूढर गांव में विक्रेता संतोष को गिरफ्तार करने के लिए दबिश दी तो घर के पीछे बिना नंबर के तीन और ट्रैक्टर बरामद हुए। इनमें नीले रंग का सोनालिका, लाल रंग का महिंद्रा और लाल रंग का ही महिंद्रा ट्रैक्टर शामिल है। इस प्रकार संतोष के कब्जे से कुल चार ट्रैक्टर बरामद हुए। वहीं पुलिस ने दूसरे आरोधी श्रीराम यादव के कब्जे से चोरी का फार्मट्रेक ट्रैक्टर जब्त किया। इस तरह पुलिस इस मामले में 5 ट्रैक्टर बरामद कर चुकी है। दोनों आरोपियों को न्यायालय में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया है।

बड़ा चोर गिरोह होने की आशंका, पूछताछ की जानकारी पुलिस नहीं बता रही

दोनों चोरों से चोरी के पांचों ट्रैक्टर बरामद होने के बाद पुलिस पूछताछ संबंधी जानकारी छिपा रही है। बड़ा ट्रैक्टर चोर गिरोह सक्रिय होने की आशंका जता रही है। गिरोह का नेटवर्क दूसरे जिलों में सक्रिय होने की आशंका है।

और भी ट्रैक्टर बरामद होने की संभावना

चोरी के पांच ट्रैक्टर बरामद किए हैं। ट्रैक्टर चोर गिरोह हो सकता है जिससे अभी और भी ट्रैक्टर बरामद होने की संभावना है। नए ट्रैक्टर आधी से कम कीमत पर मिलने पर क्षेत्र के किसान भी खरीदने के लिए लालायित रहते थे। मामले में अभी छानबीन चल रही है।
.तिमेश छारी, थाना प्रभारी, खनियाधाना