सहारा इंडिया ऑफिस पर प्रदर्शन: शिवपुरी के एजेंट भी पहुंचे, 250 करोड़ है बकाया शिवपुरी का- Shivpuri News

शिवपुरी।
देश की सहारा इंडिया के भोपाल जोनल ऑफिस के बाहर सहारा इंडिया में अपनी बचत की कमाई जमा करने वाले लोगों ने आज प्रदर्शन किया। इस प्रदर्शन में मध्य प्रदेश के कई जिलों से आए निवेशक एवं सहारा इंडिया के एजेंट भी मौजूद थे। शिवपुरी जिले से लगभग 50 लोग इस प्रदर्शन में पहुंचे थे।

जानकारी के अनुसार इस प्रदर्शन में शिवपुरी के जमा कर्ताओं ने अपने भुगतान की मांग की शिवपुरी में जमा कर्ताओं द्वारा शिवपुरी की सिटी कोतवाली में सहारा इंडिया के प्रमुख पर 2 एफआईआर भी दर्ज करा दी हैं। जिनमें सहारा प्रमुख सुब्रत रॉय सहित कई अपराधियों के नाम है जिनमें सबसे बड़ा नाम शिवाजी सिंह का है जो कुछ समय पूर्व माननीय गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा के चेंबर में उनके साथ चाय पीते हुए नजर आए थे जिसके तस्वीरें सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुई थी

प्रदर्शन में शामिल नीरज कुमार शर्मा निवासी शिवपुरी ने बताया कि मैंने सहारा इंडिया पर दो एफ आई आर दर्ज कराई है जिसमे से मे एक FIR में फरियादी हूं। कई बार शिवपुरी एसपी को आवेदन देकर इस मामले में संज्ञान लेने के लिए कहा गया है परंतु उनके द्वारा हमेशा से भेजी गई पुलिस टीम खाली लौटकर रवाना हुई है जानकारी है कि पुलिस कई बार ग्वालियर गई है वहीं दो बार भोपाल भी आई है परंतु निवेशकों का पैसा आज तक नहीं मिल पाया हैं।

सहारा इंडिया के निवेशकों ने बताया कि पूरा पैसा क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी में है मैं इन लोगों को लगता है कि उनका पैसा सहारा सेबी विवाद में है क्योंकि सारा ने लोगों को इस उलझन में बताया है कि आज लोगों को यह भी नहीं पता है कि उनका पैसा कहां है ऐसे में उन निवेशकों की आवाज को न सरकार सुन पा रही है और ना देश का कोर्ट आप लोगों का पैसा कैसे मिल पाएगा यह समझना बेहद मुश्किल है वही जल्द इस मुद्दे में कार्रवाई हो और जल्द निवेशकों को उनका भुगतान मिल सके

अभिकर्ता बोले बच्चों को नहीं पढ़ा पा रहे

सहारा इंडिया के खिलाफ हो रहे इस प्रदर्शन से निवेशकों ने बताया कि हमारे ऊपर इतनी बुरी स्थिति आन पड़ी है कि पूरा पैसा सारा में पद गया है क्योंकि सहारा इंडिया को सरकारी लाइसेंस प्राप्त था इस कारण हमने पैसा जमा किया और सरकार हमसे कहती है कि आपने पैसा क्यों जमा किया तो बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए हमने पैसा जमा किया था।

वह आज पूरा पैसा सरकारी लाइसेंस और झूठ फरेब के कारण फस चुका है तो अब यह नैतिक जिम्मेदारी सरकार की है कि वह लोगों का पैसा दिला है क्योंकि आज ना तो हम लोग हमारे बच्चों को पढ़ा पा रहे हैं और ना ही बच्चों की शादी कर पा रहे हैं ऐसे में जीना भी दुर्लभ हो रहा हैं। बताया जा रहा है कि शिवपुरी के लगभग 7500 हजार परिवारों ने सहारा में अपना निवेश किया था इसका टोटल अमाउंट लगभग 250 करोड़ रुपए बताया जा रहा हैं।