Shivpuri News- खनियाधाना में डर्टी टच वाला शिक्षक, बदरवास में मनमानी वाला प्रभारी प्राचार्य सस्पेंड

बदरवास
। बदरवास ब्लॉक के शासकीय हाईस्कूल ढकरौरा में डीईओ के आदेश के बाद भी महिला शिक्षक को प्राचार्य का प्रभार नहीं सौंपा। आदेश का पालन नहीं करने पर जिला शिक्षा अधिकारी संजय श्रीवास्तव ने प्रभारी प्राचार्य शिवेंद्र जाट को निलंबित कर दिया है। उधर छेड़छाड़ की शिकायत पर कमिश्नर ने खनियाधाना के हाई स्कूल गजौरा में पदस्थ अध्यापक राजेश पाठक को निलंबित किया है। 

सरकारी स्कूल ढकरौरा प्राचार्य शिवेंद्र जाट सस्पेंड

प्राइमरी स्कूल के शिक्षक शिवेंद्र जाट के पास शासकीय हाई स्कूल ढकरौरा का प्रभार था। नई प्राचार्य नेहा जैन ने शिकायत की थी कि शिवेंद्र जाट ने स्कूल का पूरा प्रभार नहीं सौंपा है। छात्र-छात्राओं की परीक्षा व रेडक्रास फीस सहित अन्य शासकीय निधि भी जमा नहीं करते हुए खुद रख ली है। इसके अलावा कैश बुक भी नहीं दे रहा है। डीईओ ने मामले की जांच कराई तो शिकायत सही पाई। जिला शिक्षा अधिकारी संजय श्रीवास्तव ने शिवेंद्र जाट को निलंबित कर बीईओ ऑफिस कोलारस अटैच कर दिया है।

हाई स्कूल गजौरा के अध्यापक राजेश पाठक सस्पेंड, FIR भी दर्ज हुई है

खनियाधाना ब्लॉक के शासकीय हाई स्कूल गजौरा में पदस्थ अध्यापक राजेश पाठक के खिलाफ पिछोर थाने में धारा 354ए 506 व लैंगिक अपराध संरक्षण अधिनियम 2012 की धारा 7 व 8 के तहत पीड़िता केस दर्ज कराया है। ग्वालियर कमिश्नर आशीष सक्सेना ने शिक्षक राजेश पाठक को शासकीय कर्मचारी के आचरण व पदीय दायित्वों के विपरीत मानते हुए तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। शिक्षक को कलेक्ट्रेट ऑफिस अटैच किया है।

राजेश पाठक अध्यापक पर क्या आरोप लगा है

पिछोर थाना क्षेत्र के ग्राम गजौरा मेें शासकीय हाई स्कूल में 17 अगस्त को 10वीं क्लास की 15 वर्षीय छात्रा स्कूल गई हुई थी। इसी दौरान वह कुछ किताबें लेने जब लाइब्रेरी पहुंची तो स्कूल के शिक्षक राजेश पाठक ने उस पर गंदी नजर डालते हुए छेड़छाड़ शुरू कर दी तथा वह बेड टच का शिकार हुई। परिजनों ने इसकी शिकायत स्कूल के प्राचार्य से की।

लेकिन जब शिक्षक की गंदी नियत को छिपाने का प्रयास किये जाने लगा और छात्रा के परिजनों पर भी दबाव डाला गया, तब 19 अगस्त को छात्रा ने अपने परिजनों के साथ पिछोर थाने आकर आरोपी शिक्षक के खिलाफ छेड़छाड़ सहित पास्को एक्ट के तहत मामला दर्ज कराया था। 

इसके अलावा त्रैमासिक परीक्षा के प्रश्न पत्र लेने नहीं पहुंचे बदरवास, करैरा व पिछोर के उत्कृष्ट स्कूल प्राचार्य को भी नोटिस जारी कर तीन दिन में जवाब तलब किया है।