भौंती में बाढ़- अखाई नदी घरों में घुसी, ग्रामीण सड़क पर लावारिस- Pichhore News

पिछोर। शिवपुरी जिले के पिछोर विधानसभा में बीती रात हुई तेज बारिश ने भारी तबाही मचाई है। जिससे किसानों के खेतों में रखी मूंगफली की फसल बह गई इतना ही नहीं किसानों के घरों में भी पानी भर गया। जिससे किसान अपने छोटे छोटे बच्चों व महिलाओं सहित बीच रोड पर रहने को मजबूर हो गए। इन सब से नाराज किसानों ने शनिवार को सिरसौद-चंदेरी रोड पर जाम लगा दिया।

गुस्साए किसानों द्वारा लगाए गए जाम की सूचना मिलते ही भौंती थाना प्रभारी संजय मिश्रा, नायब तहसीलदार पवन चंदेलिया व जिला पंचायत सदस्य मनीराम लोधी ने पीड़ित किसानों से मिलकर उनकी समस्या सुनी और उनको हर संभव मदद का आश्वासन दिया। लेकिन नाराज किसानों का कहना है कि पिछली साल भी भारी बारिश के चलते उनका सब कुछ बर्बाद हो गया था और सिवाय आश्वासन के एक साल बीत जाने के बाद भी उनकी समस्याओं का हल नहीं हुआ।

सूचना मिलने के बाद ग्रामीण मौके पर पहुंचे। उन्होंने प्रशासन तथा पुलिस को इसकी सूचना दी। किसानों ने बताया कि भौंती कस्बे के पास अखाई नदी के पास जो पुलिया बनी है बो बहुत छोटी है जिससे कि बारिश का पानी भरने से पानी उनके खेतों और घरों में भर जाता हैं। जिससे हर साल हमें बहुत नुकसान का सामना करना पड़ता है। एक साल बीत जाने पर भी उक्त पुलिया का पुनर्निर्माण नही हो सका है।

बीते रोज से हो रही बारिश से उनका सब कुछ तबाह हो गया। गुस्साए किसानों का कहना है कि जब तक कलेक्टर साहब यहां आकर हमारी समस्याओं का समाधान नहीं करेंगे हम लोग जाम नहीं खोलेंगे। किसानों ने दो घंटे तक सड़क को जाम करके रखा था। दो घंटे बाद प्रशासन के और जिम्मेदार अधिकारी पहुंचे।


उन्होंने किसानों को हुए नुकसान की भरपाई के लिए मुआवजा दिलाने का आश्वासन दिया तब कहीं जाकर किसान सड़क से हटने को तैयार हुए। रातभर हुई भारी बरसात से दहशत का वातावरण व्याप्त हो गया है। फसलें चौपट हो गई हैं।

मुख्यमंत्री के नाम तहसीलदार को सौंपा ज्ञापन
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के एक ज्ञापन खनियाधाना के किसानों तहसील खनियाधाना को सौंपा हैं। ज्ञापन में बताया है कि शिवपुरी जिले की खनियाधाना तहसील के अंतर्गत ग्रामों में उड़द की पकी एवं कटी फसलों पर पानी बरसने से फसलों को भारी मात्रा में नुकसान हुआ है। हाल ही में किसानों द्वारा खेतों से मूंगफली पटाकर रखी ही थी कि वे मौसम अतिवृष्टि से मूंगफली की फसल को भारी नुकसान हुआ है।


नदी नालों में के किनारों पर जो खेत है उन खेतों की फसलें पानी में बह गई है। जिससे किसानों पर दोहरी मार पड़ी है। जिससे किसानों की फसलों का भारी नुकसान हुआ है। किसान हताश परेशान एवं घबराया हुआ है। ऐसी स्थिति में नष्ट हुई उड़द, मूंगफली एवं अन्य फसलों का सर्वे कराया जाए और फसलों का जो नुकसान हुआ है उसका उचित मुआवजा दिलाये जाने की मांग की है।