लुढ़कते हुए बागेश्वर धाम जा रहे हैं ओझा दंपत्ति, तय कर रही है प्रतिदिन 2 किलोमीटर की दूरी- narwar News

नरवर। देश का प्रसिद्ध धाम बागेश्वर धाम के लिए नरवर तहसील में आने वाले गांव रामनगर गधाई में निवास करने वाली दंपत्ति ने लुढकते हुए यात्रा करने का संकल्प लिया है। इस यात्रा का 27 सितंबर से श्रीगणेश हो चुका हैं। इस यात्रा के साथ रामधुन भी चल रही है। भक्ति के संकल्प से शुरू की गई यात्रा कहां से निकलती है आमजन इस अद्भुत यात्रा का दर्शन करने लगते हैं और इस बजरंगबली के मंगलमय होने की कामना भी कर रहे हैं।

बडा ही अजीब लगता है कि लोग पदयात्रा निकालते हैं,कहते है कि भगवान से बडा भक्त होता है इसलिए भक्त के बस में भगवान होते है,हमारे देश में संकल्प भक्ति के कई उदाहरण देखने को मिलते हैं। हिंदुओं का परमधाम गिरिराज जी की परिक्रमा मे अपने दंडौती यात्रा देखी होगी। लेकिन लुढ़कते हुए यात्रा के दर्शन अपने शायद नहीं किए होेंगें।

रामनगर गधाई के रहने वाले अरविंद ओझा और उनकी धर्मपत्नी तुलसी ओझा ने बागेश्वर की यात्रा का संकल्प लिया। यात्रा भी अद्भुत है,लुढकते हुए। मंगलवार 27 सितंबर से इस यात्रा का श्रीगणेश हो चुका हैं। 3 दिन में यह यात्रा मात्र 6 किलोमीटर खैरा घाट ही पहुंच सकी हैं।

यह यात्रा सुख समृद्धि की कामना को लेकर बागेश्वर धाम पहुंचेगी। इस यात्रा के साथ गधाई के महेंद्र शर्मा बजरंगी महाराज सहित 7 लोग साथ में हैं। जो उनकी यात्रा में सहयोग कर रहे हैं। इस प्रकार की यह अद्भुत यात्रा देखने को मिलता हैं।

जिसे देखने सड़कों पर भीड़ उमड़ रही है लोग दर्शन कर रहे हैं उनके साथ रामधुन का भजन भी चल रहा है। बागेश्वर धाम तक जाने वाली इस यात्रा में ग्रामीण जन लोगों को जल पान व अन्य सुविधाएं मुहैया भी करवा रहे हैं।