लॉकडाउन में पढ़ाई को किया दिमाग में लॉक, शिवपुरी के 4 स्टूडेंट ने CA में पाई सफलता - Shivpuri News

शिवपुरी‎। लॉकडाउन में लोग घरो में कैद हो गए थे,ऐसा लग रहा था कि जैसे समय रुक गया हो,लेकिन शिवपुरी के 4 युवाओं ने इस नेगेटिव समय को पॉजीटिव समय में परिवर्तित किया। लॉकडाउन के समय का सदुपयोग कर सोशल साइट्स और अपने टीचर के नोट्स के उत्तरों को अपने दिमाग में लॉक कर सीए की फाइनल परीक्षा को पास किया है।

एक्सीलेंस के स्टूडेंट का एक्सीलेंस सेल्फ स्टडी

शिवपुरी के छत्री रोड पर स्थित नरेन्द्र नगर में निवास करने वाले मयंक सिंघल, पुत्र मिथलेस-मोहन सिंघल के पुत्र ने ऐक्सीलेंस स्कूल से पढाई की है। शुक्रवार को घोषित फाइनल रिज्लट में सीएम की परीक्षा पास की है। मयंक के 800 मे से 441 अंक हासिल किए हैं। मंयक ने बताया कि उसने 10 से 12 घंटे प्रतिदिन सेल्फ स्टडी की है। मेरे अंदर मेरे टीचरो ने आत्मविश्वास बढ़ाया और मेरे माता पिता मेरे हर निर्णय में मेरे साथ रहे। उन्हीं के त्याग और प्यार के कारण मैंने यह सफलता हासिल की है।

आयुषी जैन, पुत्री संजीव-सरिता जैन,‎ निवासी फतेहपुर रोड

आयुषी जैन ने बताया‎ ‎ कि लॉकडाउन के दौरान‎ ‎ समय का सदुपयोग किया‎ ‎ और अनसोल्ड पेपर का हल‎ ‎ कर जाना कि किस तरह से‎ ‎ पेपर में सवाल आते हैं।‎ ‎ बार-बार अध्ययन करने से‎ समय बदलता भी आई और समय सीमा में पेपर‎ हल करना सीखा। नतीजा यह रहा कि उन्हें‎ सफलता मिल गई वह अब जॉब की तलाश‎ करेंगी ताकि सीए डिग्री का उपयोग कर सकें।‎ उन्होंने 800 में से 438 अंक हासिल किए हैं।‎

निमेष गोयल पुत्र दिलीप- भारती‎ गोयल, निवासी धर्मशाला रोड

निमेष ने‎ ‎ बताया कि उसने भी अपनी‎ ‎ तैयारी ऑनलाइन की है‎ ‎ जिसमें पिछले 5 साल के‎ ‎ पुराने अनसोल्ड पेपर का‎ ‎ अध्ययन कर स्पीड बढ़ाई‎ ‎ और विषय के बारे में‎ फोकस किया कि कहां क्या पूछा जाता है।‎ इसी आधार पर तैयार करने से वह सीए की‎ परीक्षा में सफल रहे। उन्होंने 800 में से‎ 417 अंक हासिल किए हैं। अब स्वयं की‎ प्रैक्टिस करेंगे।‎

स्वीटी पुत्री दिनेश - सुखिया जैन‎ निवासी सदर बाजार टेकरी

स्वीटी ने‎ ‎ बताया कि उसने घर पर ही‎ ‎ रह कर परीक्षा की तैयारी‎ ‎ की। लॉकडाउन में अधिक‎ ‎ समय पढ़ाई के लिए मिला‎ ‎ जिसके चलते घर में ही‎ ‎ रहकर सोशल साइट्स का‎ उपयोग कर पढ़ाई की। अब परीक्षा परिणाम‎ उस के पक्ष में है। स्वीटी ने 800 में से 476‎ अंक हासिल कर सफलता अर्जित की है।‎ हालांकि वह अभी यह तय नहीं कर पाई है‎ कि वह जॉब करेंगी या फिर प्रैक्टिस।‎