IPL पर लग रहे थे नोटो के चौके और छक्के: पुलिस की छापामार कार्रवाई, 2 सट्टेबाज गिरफ्तार- karera News

शिवपुरी। वर्तमान समय में क्रिकेट का सबसे बडा टूर्नामेंट IPL चल रहा हैं। IPL की एक गेंद का सौदा करोडो मे होता है। ऐसे ही गेंदों का चौके छक्के का नोटो में सौदा होते हुए पुलिस ने 2 सटोरियों को पकड़ा है। पुलिस को इन सट्टेबाजों को पकड़ना मुश्किल होता हैं क्योंकि यह सट्टा ऑनलाइन खिलाया जाता हैं लेकिन करैरा पुलिस ने छापामार कार्रवाई करते हुए इस सट्टे की फील्ड को फिलहाल लॉक किया हैं।

करैरा थाना प्रभारी सतीश चौहान को मुखबिर से सूचना मिली थी कि डेनेडा रोड पुराने अस्पताल के पास IPL का सट्टा लगाया जा रहा है। पुलिस ने जब दबिश दी तो दो युवक फोन पर IPL के मैच पर सट्टा लगवा रहे थे। पुलिस ने बृजेश उर्फ लारा साहू पुत्र बालकिशन उम्र 32 वर्ष नि. काजी मोहल्ला करैरा और फरीद खान पुत्र जफर खान उम्र 30 नि. पुरानी तहसील के पास करैरा को गिरफ्तार किया।

इनके पास से 9 हजार रुपये नकद और तीन मोबाइल फोन मिले हैं। फोन में पुलिस को 12 से 13 लाख रुपये के सट्टे के ट्रांजेक्शन मिले हैं। कार्यवाही में सउनि जितेंद्र जाट, सउनि जितेंद्र सिंह यादव, आर सोनू पांडे, मनीष कोरी, देवेश तोमर, आर चालक शैलेंद्र पाल के साथ एडी टीम के उनि रविंद्र सिकरवार, सउनि प्रवीण त्रिवेदी, प्रआर चंद्रभान, आर रामप्रसाद, हरेंद्र, अनूप, प्रआर चालक उसमान खांन की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

ऑनलाइन सट्टे को ट्रेस करना चुनौती

इन दिनों सटोरिए ऑनलाइन सट्टा चला रहे हैं। इसमें सट्टा खेलने वालों को लाइन लेना पड़ता है। वे एक निश्चित राशि जमा कर लाइन लेते हैं। यह लाइन उनकी लिमिट होती है जिसमें वह उस लिमिट तक पैसे लगा सकते हैं। इसके बाद उन्हें एक आईडी और पासवर्ड दे दिया जाता है। उस पर लॉगइन करते ही सभी मैचों के लाइव स्कोर मिलते हैं।

यहीं से वे सेशन, हार-जीत, लंबी पारी का सट्टा लगाते हैं। लेडर में इसका पूरा रिकॉर्ड होता है। सट्टेबाजी की इस प्रक्रिया में फोन पर भी बात नहीं होती है जिससे साइबर टीम के लिए इन्हें ट्रेस करना मुश्किल होता है। सट्टा का यह नया तरीका पुलिस के लिए चुनौती बना हुआ है।