अब नही चलेगा CMO का हठयोग: कलेक्टर आसान लेकिन CMO दुर्लभ, मेला कांड का बडा असर - Shivpuri News

शिवपुरी। नगर पालिका शिवपुरी के सीएमओ शैलेष अवस्थी का हठयोग अब नही चलेगा,कलेक्टर ने एक पत्र लिख सीएमओ की कार्यप्रणाली पर लगाम कसते कसते हुए कार्य सुविधा की दृष्टि से जिला शहरी विकास अभिकरण के परियोजना अधिकारी को नगर पालिका शिवपुरी के समस्त कार्यों के लिए प्रभारी अधिकारी नियुक्त किया हैं,बताया जा रहा है कि मेला काण्ड से प्रशासन की छवि बार बार धूमिल हो रही थी।

जैसा कि विदित है कि सीएमओ की कार्यप्रणाली से शहर की जनता तो परेशान होती थी। सीएमओ अपनी कुर्सी पर नही मिलते थे,सीएमओ कोठी से ही नगर पालिका का आफिस संचालित होने लगा था। सीएमओ फोन उठाना अपनी शान के खिलाफ समझते थे। शहर में कलेक्टर से मुलाकात आसान थी लेकिन सीएमओ से दुर्लभ ऐसे कई कारण बन रहे थे जो लगातार सीएमओ के हठयोग को दर्शा रहे थे।

इसी के चलते कलेक्टर ने शनिवार की शाम एक पत्र जारी कर सीएमओ पर लगाम कसते हुए कार्य सुविधा की दृष्टि से जिला शहरी विकास अभिकरण के परियोजना अधिकारी को नगर पालिका शिवपुरी के समस्त कार्यों के लिए प्रभारी अधिकारी नियुक्त किया है। वह 30 जून 2022 तक नपा के प्रभारी अधिकारी के रूप में काम करेंगे। इस दौरान सीएमओ शिवपुरी समस्त फाइल परियोजना अधिकारी के माध्यम से अपर कलेक्टर को प्रस्तुत करेंगे।

इसके अलावा महावीर जैन समस्त शाखाओं के कर्मचारियों पर नियंत्रण रखेंगे, साथ ही प्रतिदिन सुबह और शाम की सफाई की समीक्षा करेंगे। मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी के रूप में समस्त कर्तव्य के निवर्हन के साथ-साथ डीजल वितरण नियंत्रण करेंगे। प्रति सप्ताह बारी-बारी से समस्त शाखाओं की बैठक सीएमओ की उपस्थिती में लेंगे और कार्यों की समीक्षा करेंगे व शाखा प्रभारियों से सीएम हेल्पलाइन का निराकरण करवाना एवं जल प्रभार की मॉनीटरिंग करना सुनिश्चित करेंगे।

अगर प्रशासन से जुड़े विश्वसनीय सूत्रों की मानें तो यह निर्णय सीएमओ की हठधर्मिता के कारण कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह को यह कदम उठाना पड़ा है। सूत्र बताते हैं कि कलेक्टर कई बार सीएमओ को व्यक्तिगत तौर पर बोल चुके थे कि उन्हें जनता की समस्याओं के समाधान के लिए वहां बिठाया गया है, ऐसे में वह अगर जनता से दूरी बनाएंगे उनकी समस्याओं का निराकरण नहीं करेंगे तो फिर कैसे चलेगा? सूत्र तो यहां तक बताते हैं कि नपा में कई अन्य अनियमितताएं भी सामने आई हैं जिसके चलते यह कदम उठाया गया है।

शिवपुरी समाचार ने 2 दिन पूर्व सीएमओ का हठयोग शीर्षक से एक खबर का प्रकाशन किया गया,इस खबर में उल्लेख किया गया था कि सीएमओ नगर पालिका शिवपुरी की हठयोग के कारण शिवपुरी की परंपरा सिद्धेश्वर मेले के साथ खिलवाड किया जा रहा हैं टेंडर पंरपरा के कारण मेले का स्वरूप बिगड रहा हैं ठेकेदार 10 गुना वसूली कर रहा हैं और यहां मामला कलेक्टर की चौखट से लेकर शिवपुरी विधायक और मप्र शासन की मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया तक भी चौखट पर भोपाल तक जा पहुंचा,लेकिन फिर भी मामला नही सुलटा सीएमओ का लगातार हठयोग जारी था।