मेडम के आदेश पर पुलिस ने मारी लाठियां, पीड़िता ने लगाया आरोप: मासूम की मौत, SI गंभीर घायल- Shivpuri News

शिवपुरी। आज प्रदेश में मासूमो का काल का दिन हैं,भोपाल की घटना देश में दुखद लहर पैदा कर रही है कि लापरवाही के कारण 10 अवोध मासूमो की मौत हो गई। उन्है यह भी नही पता की उनको किस बात की सजा मिली हैं,वही शिवपुरी में लापरवाही के कारण 1 मासूम की मौत होने की खबर करैरा से आ रही हैं,इस मासूम को भी नही पता की वह किसकी लाठी का शिकार हुआ है।

करैरा अनुविभाग में आने वाले ग्राम गधाई में एक पुलिस निर्माण के उपजे विवाद में एक साल की मासूम की मौत हो गई तो वही करैरा थाने के SI राघवेंद्र यादव गंभीर घायल होकर ग्वालियर अस्पताल में भर्ती हैं। अगर अधिकारी चाहते तो इस स्थिती को कंट्रोल में कर लेते लेकिन वह स्थिती को मैनिज नही कर सके और यह दुखद घटना शिवपुरी में हो गई।

2 परिवारो की आपसी जंग में कूंदी पुलिस की लाठिया,मासूम की मौत:विवाद ठेकेदार की देन

मंगलवार दोपहर करैरा-भितरवार रोड पर सड़क निर्माण का कार्य चल रहा हैं,सडक के एक ओर सैन समाज के लोगो के घर है और दूसरी ओर जाटव समाज के लोगो के खेत हैं। सडक निर्माण करने वाले ठेकेदार वहां पर पुलिस निर्माण करना चाहते थे। दोनो ओर के लोगो का कहना था कि वहां पुलिस निर्माण हुई ओर उसमें पाईप डाले जाऐंगें तो उनके खेतो और घरो में पानी भरेगा।

2 दिन पूर्व भी इन पाईपो को लेकर विवाद हुआ था। ठेकेदार ने इस घटना का आवेदन एसडीएम करैरा को दिया था कि ग्रामीण पुलिया का निर्माण नही होने दे रहे है। आज मंगलवार की दोपहर जैसे ही इस पुलिया का निर्माण शुरू किया तो पाईप के पानी को लेकर सेन समाज और जाटव समाज के लोगा में वहस होने लगी।

जाटव समाज के लोगो का कहना था कि यह पानी हमारे खेतो में भरेगा वही सैन समाज के लोगो को कहना था कि सडक बन रही है और उंची हो रही हैं बारिश का पानी की निकासी नही होगी,ओर पानी हमारे घरो में भरेगा।

ठेकेदार ने आवेदन एसडीएम को दिया था इस कारण नरवर नायब तहसीलदार रूचि अग्रवाल और करैरा थाने का बल घटना स्थल पर पहुंचा था। जाटव समाज के लोगो ने कहा था किय यहां पुलिया का निर्माण नही होना हैं डीपीआर में पुलिया नही हैं। इस पुलिया का एस्टीमेट नही हैं। ठेकेदार जबरिया पुलिस का निर्माण कर रहा है। इसी बहस में जाटव समाज की लोगो की भीड बडने लगी और उनके पुरूष और महिलाए अपने बच्चो के साथ धरने पर बैठ गए और पुलिस निर्माण न करने को अड गए।

मौके पर पहुंची नायब तहसीलदार और करैरा थाने के एसआई राघवेन्द्र यादव ने इन लोगो को हटाने का प्रयास किया,झडप होने लगी,झडप हिसंक रूप में बदल गई। जाटव समाज के लोगो को आरोप है कि तहसीलदार मेडम ने पुलिस को लाठी चार्ज के लिए आदेशित किया ओर हमारे लोगो और महिलाओ पर 25 मिनिट लाठियां मारी हैं। इसी लाठी चार्ज में अपनी मां की गोद में बैठे एक साल के मासूम के सिर में लाठी लगने से मौत हो गई।

लाठीचार्ज होने के बाद पब्लिक भडक गई और पुलिस पर पथराव कर दिया। इस घटनाक्रम में SI राघवेंद्र यादव के सिर में पत्थर लगा,जिससे उनका सिर फट गया,राघवेन्द्र यादव को ग्वालियर रेफर किया गया हैं। वही प्रशासन का कहना है कि बच्चा मां के हाथ से छूट कर गिर गया हैं और उसका सिर पत्थर से लगा हैं। इस कारण उसकी मौत हुई है।

इस घटना के बाद एसपी राजेश सिंह चंदेल, कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह व करैरा विधायक प्रागीलाल जाटव गांव पहुंचे। विधायक के अनुसार उन्होंने गांववालों से बात की है। जाटव ने कहा किगांव के लोग पाइप डालने का विरोध कर रहे थे, जिसे लेकर तहसीलदार को ज्ञापन भी दिया गया। ग्रामीण अशोक के मासूम बेटे की पुलिस की लाठी से मौत हो गई। मामले में वैधानिक कार्रवाई करवाएंगे और घटना के लिए जो भी दोषी हैं, उन्हें बख्शा नहीं जाएगा।

खबर लिखे जाने तक भीभ आर्मी सहित पीडित जाटव समाज के लोग धरने पर बैठे हैं,घटना स्थल पर एसपी कलेक्टर सहित पूरा प्रशानिक बल मौजूद हैं। पीडित परिवार इस मामले में अपनी मांगो पर अडा है।