थीम रोड के उद्देश्य पर पानी फिरना शुरू, हुई अतिक्रमण की शुरुआत, बैंको की पार्किंग ने किया रास्ता जाम- Shivpuri News

शिवपुरी। थीम रोड़ का निर्माण केबिनेट मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने इस उद्देश्य से कराया था कि शहरवासियों को सुगम रास्ता मिले और बिना किसी बिघ्र के वह अपना सफर कर सकें। लेकिन झांसी तिराहा और आईटीबीपी के आगे हार्डवेयर संचालकों और बैंकों ने अवैध रूप से सड़क को घेर रखा है।

गुना वायपास पर श्रीजी स्टील के संचालक ने फुटपाथ पर एक कांटा जमा दिया है। जिस पर वह अपना व्यापार करेगा। यही स्थिति झांसी तिराहे पर श्रीजी हार्डवेयर, गोविंद हार्डवेयर सहित भारतीय स्टेट बैंक और अन्य बैंकों की शाखा ने बना रखी है। जहां पार्किंग न होने के कारण सड़क पर वाहन पार्क किए जा रहे हैं। जिससे वहां लगातार जाम बना रहता है।

हार्डवेयर संचालकों ने तो सड़क के बीचों बीच अपना पूरा व्यापार शुरू कर दिया है। जो लोगों की परेशानी का कारण बना है। इसे लेकर कई बार जनसुनवाई तक शिकायतें पहुंची। लेकिन उनकी प्रशासनिक और राजनैतिक पकड़ के कारण कोई उनकी गिरेवां तक हाथ नहीं डाल सका। जिससे उनके हौंसले काफी बुलंद हैं और वह अपना पूरा व्यापार सड़क पर ही कर रहे हैं।

अतिक्रमणकारियों ने थीम रोड़ के उद्देश्य पर ही पानी फेर दिया है

सर्वाधिक बेकार स्थिति गुना वायपास से लेकर झांसी तिराहा तक है। जहां सड़क के दोनों और बैंक और हार्डवेयर की दुकानें संचालित हैं और इनके कारण झांसी तिराहा पर लंबा जाम लगता है और हमेशा दुर्घटना की आशंका बनी रहती है। झांसी तिराहा से फतेहपुर रोड़ पर पहुंचने के लिए लोगों को मुसीबत उठानी पड़ती है। क्योंकि वहां लगने वाली खान-पीन की दुकानों पर भीड़ और पार्किंग रहती है।

जिससे वहां हमेशा जाम लगा रहता है। गुना वायपास से वर्मा कॉलोनी तक अभी रास्ता बहुत ही सुगम है। लेकिन आईटीबीपी के आगे श्रीजी स्टील प्रायवेट लिमिटेड के प्रो. नमन गर्ग ने धीरे-धीरे अतिक्रमण शुरू कर दिया है। पहले उन्होंने पक्का चबूतरे का निर्माण कर फुटपाथ को अवरूद्ध कर दिया है। इसके बाद उन्होंने जिस स्थान पर पेबर्स लगने थे। वहां पर अपना तौल कांटा रख दिया है।

साथ ही वहां डलने वाली पेबर्स ब्लॉक भी नहीं लगने दिए। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि हार्डवेयर संचालक अपनी राजनैतिक पहुंच का बैजा इस्तेमाल कर रहा है और न ही नगर पालिका और न ही पीडब्ल्यूडी विभाग ने इस पर कोई ध्यान नहीं दिया। नगर पालिका सीएमओ शैलेंद्र अवस्थी को जब फोन लगाया गया तो उन्होंने फोन रिसीब नहीं किया। जबकि पीडब्ल्यूडी ईई ने इस पूरे मामले में कार्रवाई करने की बात कही है। उनका कहना है कि मेरे संज्ञान में यह मामला अभी आया है। मैं दोपहर तक मौके पर पहुंचकर स्थिति का जायजा लूंगा।

दुकान के आगे न तो पेबर्स डलने दी और न ही दुकान के आसपास विद्युत पोल लगने दिए

श्रीजी स्टील के संचालक नमन गर्ग ने थीम रोड़ के किनारे पर लगने वाली पेबर्स ब्लॉकों को अपनी दुकान के आगे नहीं लगने दिया और उस स्थान पर उसने अस्थाई चबूतरा निर्माण कर वहां तौल कांटा स्थापित कर दिया है।

इससे पहले श्रीजी स्टील के संचालक ने बिजली विभाग को भी वहां विद्युत पोल नहीं लगाने दिए और अपनी राजनैतिक पहुंच का डर दिखाकर बिजली कर्मचारियों को वहां से चलता कर दिया। यही स्थिति पेबर्स ब्लॉक लगाने के समय बनी। जहां पीडब्ल्यूडी के ठेकेदार और अधिकारियों को पेबर्स लगाने से रोक दिया और उन्हें राजनैतिक पहुंच का डर दिखाया। जिस कारण पीडब्ल्यूडी के ठेकेदार ने उसकी दुकान के दोनों ओर का हिस्सा छोड़कर अन्य स्थान पर पेबर्स लगा दिए।