बारिश में बह गया था पोहरी का विकास, आज तक नहीं बन सका, सिर पर बोझा रखकर गुजर रही है कार्यकर्ता- Pohri News

पोहरी। खबर जिले के पोहरी अनुविभाग के छर्च क्षेत्र से आ रही है। जहां बीते चार साल पहले पोहरी के छर्च क्षेत्र में पोहरी विकास वह गया था। इस भ्रष्टाचार के चलते ईई सहित सब इंजीनियर पर कार्यवाही तो हो गई। परंतु जिस पब्लिक के लिए यह पुल बनाया जा रहा था उनकी समस्या जस की तस बनी हुई है।

विदित हो कि पोहरी अनुभाग के छर्च क्षेत्र के इंदुर्खी गांव में पहली ही बारिश में करीब 7.50 करोड़ रु लागत का पुल बर्षो पहले भ्रस्टाचार की भेंट चढ़ गया था। जिसके बाद सालो बीत गए लेकिन आज तक क्षत्रिग्रस्त पुल का निर्माण नही हों सका जिसके बाद आये दिन ग्रामीणों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। आपको बता दें कि पोहरी अनुविभाग ने प्रदेश को एक मंत्री भी दिया है लेकिन उसके बाबजूद भी क्षेत्र की जनता को अपनी परेशानियों से निजात नही मिल सकी है।

आप कहेंगे आज हम इस चार साल पुरानी घटना पर क्यों बात कर रहे हैं? तो आपको बात दें कि आज एक वीडियो सामने आया है, जिसमे आंगनवाडी कार्यकर्ता गांव मे पोषण आहार वितरण करने के लिए अपने सर पर बोझा रख कर जान जोखिम मे डालकर बहती नदी को पार करते हुए नजर आ रही है। इस वीडियो से आप ग्रामीणों को आए दिन आवागमन मे आने वाली समस्या को भली भांती समझ सकते हैं।

इस पुल के नही बनने से ग्रामीण अपनी जरूरतों का सामान खरीदने के लिए छर्च क्षेत्र मे आने के बजाय राजस्थान से खरीददारी करना पसंद करते हैं। जब ग्रामीणों से इस विषय मे पूछा गया तो उन्होने बताया की पुल नही होने से हमे नदी को पार करने मे परेशानी आती है, और बच्चों के डूबने का डर रहता है। इसलिए हम नदी पार करने से बचने के लिए राजस्थान से खरीददारी कर लेते हैं।

चार साल का लम्बा समय बीत जाने के बाद भी प्रशासन और नेता ग्रामीणों को आवागमन मे आने वाली समस्या का हल नही निकाल सके हैं। क्षेत्र की जनता परेशान है और नेता अपने पद का सुख भोगने मे मस्त हैं। ऐसे कैसे होगा गांव का विकास?