पदविहार कर सिरोंज से शिवपुरी पहुंचा मुनिसंघ, 5 दिसंबर से गांधी पार्क में होंगें पंचकल्याणक महोत्सव

शिवपुरी। आचार्य श्री 108 विद्यासागर महाराज के परम प्रभावक शिष्य मुनि अभयसागर महाराज, मुनिश्री प्रभातसागर महाराज एवं मुनिश्री निरिहसागर महाराज का भव्य मंगल प्रवेश गुरुवार को शहर में हुआ। यहां मुनिसंघ के आगमन के साथ ही गुना नाके के समीप बड़ी संख्या में जैन धर्मावलंबियों का जनसैलाब उमड़ पड़ा। जहां मुनिश्री के पाद प्राच्छालन जैन समाज के अनुयायियों के द्वारा किए गए।

यहां मुनिश्री की आगवानी के लिए बड़ी संख्या में जैन समाज के महिला व पुरुष गुना चुंगी नाके सीमा पर एकत्रित हुए। इस दौरान पूज्य मुनिसंघ के नगर प्रवेश को लेकर पूरे शहर में खासा उत्साह देखने को मिला। इसमें न केवल जैन समाज अपितु अन्य जैनेतर समाज द्वारा भी पूज्य मुनि संघ के नगर आगमन पर स्वागत की होड़ लगी रही।

सारा शहर होर्डिंग और बैनरो से पट गया। जगह-जगह उनका पाद प्राक्षालन एवं आरती की गयी। वहीं गाजे-बाजे के साथ मुनिश्री का भव्य शोभा यात्रा के साथ स्थानीय छत्री जैन मंदिर में प्रवेश किया। जहां उनके मंगल प्रवचन हुए, महिलाएं तथा पुरुष हाथ में पचरंगा ध्वज लेकर अपने-अपने संगठन के बैनर के साथ शोभा यात्रा में शामिल हुए। श्रद्धालुओं ने अपने-अपने घर के आगे मुनिश्री की आरती की। इस कार्यक्रम में भाग लेने के लिए काफी संख्या में सिरोंज, अशोकनगर, गुना, कोलारस, बदरबास, खतोरा, लुकवासा आदि स्थानों से श्रद्धालु शामिल हुए।

पंचकल्याणक 5 से होगा
उल्लेखनीय है कि शिवपुरी नगर में आगामी दिनांक 5 दिसंबर से 10 दिसंबर तक ऐतिहासिक श्रीपंचकल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सव में अपना सानिध्य प्रदान करने के लिए मुनि संघ का आगमन हुआ है। ज्ञात हो कि पूज्य मुनि संघ ने लगभग 200 किलोमीटर की दूरी पद बिहार द्वारा तय कर शिवपुरी नगर में प्रवेश किया है। पंचकल्याणक महोत्सव के लिए गांधी पार्क को अयोध्या के रूप में सजाया जा रहा है।