3 साल की गुडिया दादी का साथ छोड़ बस स्टैंड पर पंहुच गई: FRV 05 के स्टाफ ने बच्ची को दादी के पास पहुंचाया

शिवपुरी। 3 साल की गुडिया अपनी दादी के साथ अपने गांव से शिवपुरी में एक प्रोग्राम में भंडारा खाने आई थी,लेकिन वह अपनी दादी का साथ छोड भटककर पोहरी बस स्टैण्ड पर आ गई और वहां खडे होकर रोने लगी। रोती हुई को एक बस ड्रायवर ने एफआरव्ही 05 के स्टाफ के पास लेकर आया और सारी बात बताई। रोती हुई बच्ची को पहले चुप कराया और उससे पुछा तो उसने बता दिया। पुलिस ने इस बच्ची को उसकी दादी के पास पहुंचा दिया।

जानकारी के अनुसार आज दोपहर 100 डायल के पायलट रवी त्रिपाठी और आरक्षक

पवन जाट के पास एक युवक बच्ची को लेकर आया। जिसने बताया वह बस ड्राइवर है और यह बच्ची उसे बस स्टैंण्ड पर भटकते हुए मिली थी। जिसके बाद 100 डायल के स्टाफ ने बच्ची को अपनी कस्टडी मे ले लिया और बच्ची से पूछताछ शुरू की।

पूछताछ करने पर बच्ची ने बताया की वह मनियर मे किसी प्रोग्राम मे आई है। जहां से रास्ता भटक गई और बस स्टैंण्ड पहुंच गई। बच्ची द्धारा दी गई जानकारी के अनुसार डायल 100 ने बच्ची के परिजनों को खोजना शुरू किया और बच्ची को उसकी दादी से मिलाया।

बच्ची की दादी से पुलिस ने पूछताछ की तो उसने बताया कि उसका नाम गायत्री यादव है और वह सकलपुर के निवासी हैं। यहां मैया के मंदिर पर अपने रिश्तेदारों के न्यौता खाने आए हैं। पुलिस द्धारा पूछने पर दादी ने बताया की वह बच्ची को मैया के मंदिर पर ही छोड कर गई थी बच्ची बस स्टैंण्ड कैसे पहुंची उसे नही पता।