ABVP ने एक गांव एक तिरंगा अभियान के तहत 21 बस्ती और 48 गांवों में फहराया तिरंगा - Shivpuri News

शिवपुरी। जिले में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद जिला शिवपुरी द्वारा पूरे जिले भर में एक गांव एक तिरंगा अभियान चलाया जिसमें 21 बस्तियां एवं 48 गांव में जाकर कार्यकर्ताओं ने फहराया तिरंगा जिसमें जिला संयोजक मयंक राठौर का कहना है कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने एक गांव एक तिरंगा अभियान शिवपुरी नहीं पूरे देश में एक साथ चलाया।

जिसमें ध्वजारोहण महोत्सव के अंतर्गत 128000 स्थानों पर ध्वज फहराया गया इसमें से 8000 से अधिक स्थानों पर मध्य भारत प्रांत द्वारा कार्यक्रम आयोजित किए गए साथ ही इसमें शिवपुरी की संख्या 68 स्थानों पर कार्यकर्ताओं ने जाकर ध्वजारोहण किया जिसमें कई बाढ़ प्रभावित इलाकों में कार्यकर्ता पहुंचे और ध्वजारोहण के पश्चात बस्तियों में कपड़े भोजन के पैकेट केले एवं आवश्यक सामग्री या वितरित की।

इस कार्यक्रम में शिवपुरी इकाई के साथ-साथ पिछोर कोलारस,पोहरी बैराड़,राजा की मुडेरी, आदि स्थानों पर ध्वजारोहण महाउत्सव मनाया गया, आगे नगर मंत्री विवेक धाकड़ ने कहा कि विद्यार्थी परिषद इकाई शिवपुरी कार्यकर्ताओ ने 8 बस्तियों एवं आस पास के 20 गांव में जाकर तिरंगा फहराया साथ ही लोगो को मिठाई फल एवं वस्त्र आवश्यकता की वस्तुएं वितरीत की साथ ही कई स्थानो पर बच्चो के बीच प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।

जिसमे बस्तियों के बच्चों में बहुत अच्छा माहौल बना जिसमे कई अभिभावकों ने हमें बताया कि हमारी वस्ती में आजतक कोई नही आया जिसने ऐसा आयोजन कर हमारे बच्चो को पुरुष्कार दिया हो और न ही ऐसा झण्डा बन्धन करवाया आपका बहुत बहुत धन्यवाद हमारे बीच आये।

ऐसा ही हमे हर वस्ती में देखने को मिला हमने लुधावली वस्ती के गठनायक यीशु शर्मा एवं साथ मे भानु समाधिया रहे जिसमे मुख्य अतिथि जिला प्रमुख मुकेश मिश्रा एवम नगर मंत्री विवेक धाकड़ रहे करौंदी वस्ती जिसमे गठनायक रमन राठौर,सहयोगी अंकित खरे,आदित्य चंदेल,आकाश अग्रवाल,विशाल कश्यप,रानू इन कार्येकर्ताओ को ज़िम्मेदारी दी गई थी।

साथ ही राय श्री ग्राम में भाग संयोजक प्रद्युम्न गोस्वामी,संदीप शर्मा जी , मनियार वस्ती नगर मंत्री विवेक धाकड़ जिसमें मुख्य अतिथि जिला संयोजक मयंक राठौर रहे,कठमई वस्ती में यीशु शर्मा एवम भानु समाधिया,आदित्य राठौर,यश राठौर रहे जिसमे मुख्य अतिथि जिला संयोजक मयंक राठौर नगर मंत्री विवेक धाकड़ रहे। इस पूरे अभियान में 40 गठ नायक बनाये गए जिसें सभी के पास 2 स्थान दिए गए जिसमे उन्हें ध्वजारोहण कार्यक्रम करना था।