युवक को हनीट्रेप में फंसाने वाली युवती विवाहित है,मौसेरे भाई ने ही बुना था जाल - Shivpuri News

शिवपुरी। शहर के हनुमान कॉलोनी मे रहने वाले युवक को हनीट्रेप में फसाने वाली युवती विवाहित हैं,पुलिस ने इस विवाहिता को गिरफ्तार कर लिया हैं वही इस हनीट्रेप का जाल बुनने वाला युवक पीडित का मौसेरा भाई हैं। इस गैंग में 6 सदस्य होने की खबर आ रही हैं,फिलहाल कोतवाली पुलिस ने इस मामले में 21 वर्षीय विवाहिता सहित 1 युवक को गिरफ्तार कर लिया हैै।

यह था मामला:युवती ने फोन पर प्यार किया और सथियो से कुटवाया

11 जुलाई को नरोत्तम पुत्र सीताराम धाकड़ निवासी अमरीश पब्लिक स्कूल हनुमान कॉलोनी ने कोतवाली में शिकायत दर्ज कराई है कि बीते 4-5 दिन पूर्व एक युवती जो अपना नाम पूजा शर्मा बता रही थी। जिसके मोबाइल नम्बर 9171272674 से उसके मोबाइल पर फोन आया और उसने उससे कई बातें की।

जिससे उससे लगा कि वह युवती उससे प्यार करती है। इसी कारण वह उसकी बातों में आ गया। लेकिन उसके बारे में कोई जानकारी एकत्रित नहीं की। शनिवार की दोपहर उसके मोबाइल पर पूजा शर्मा ने फोन लगाकर उससे कहा कि वह उससे मिलना चाहती है। इसलिए वह बडौदी जेल के पास आ जाए।

युवती से मिलने की चाह में नरोत्तम वहां पहुंच गया। जहां उसे वह लड़की मिली। जैसे ही वह उससे बात करने लगा तभी उसके चार साथी वहां आ गए। जिन्होंने उसे पकड़ लिया और उसे बलात्कार के झूठे मामले में फंसाने की धमकी देने लगे ।

बाद में वह लड़की और उसके साथियों ने उससे तीन लाख बीस हजार रूपए की मांग की। जब उसने रूपए देने से इंकार कर दिया तो आरोपियों ने उसके साथ मारपीट कर दी और वहां से भाग गए। चूंकि वह उन आरोपियों को जानता नहीं है। इसलिए पुलिस ने अज्ञात लोगों पर प्रकरण पंजीबद्ध कर लिया है।

कोतवाली पुलिस ने हनीट्रेप में फसाने वाली युवती और गैंग का पर्दाफाश

बीते रोज कोतावाली पुसिस ने इस मामले का पर्दाफाश कर लिया और इस गैंग के 2 सदस्य हनीट्रेप में फसाने वाली युवती सहित 1 युवक को गिरफ्तार कर लिया है। इसमें हैरानी वाली बात यह है कि इस हनीट्रेप में फंसाए गए युवक नरोत्तम का मौसेरा भाई इस काण्ड का मास्टर माईंड निकला।

बताया जा रहा है की नरोत्तम उम्र 25 वर्ष पुत्र सीताराम धाकड़ निवासी हनुमान कॉलोनी शिवपुरी को उसी के मौसेरे भाई कमलकिशोर धाकड़ पुत्र हरीसिंह धाकड़ निवासी ग्राम जामखो ने प्रियंका उम्र 21 साल पत्नी हेमंत प्रजापति नाम की लड़की का नंबर दिया। चार-पांच दिन फोन पर बातचीत के बाद प्रियंका ने नरोत्तम को प्रेमजाल में फंसा लिया।

फिर मिलने के बहाने प्रियंका ने 10 जुलाई की दोपहर नरोत्तम को फोन करके फतेहपुर चौराहे पर बुला लिया। नरोत्तम ने अपने मौसेरे भाई कमलकिशोर को भी बाइक पर संग लिया। चौराहे पर मिलने के बाद प्रियंका ने बड़ौदी चलने की बात कही और एक खंडहर में पहुंच गए।

पहले से तय प्लानिंग के तहत हनीट्रैप गैंग के चार साथी दो बाइकों से आ धमके, तभी लड़की अचानक आरोप लगाने लगी कि नरोत्तम मेरे साथ गलत कर रहा है। हनीट्रैप गैंग के युवकों ने नरोत्तम की पिटाई भी कर दी। पुलिस ने इस मामले में मोबाईल नंबर को ट्रेस किया और उसी आधार पर ही इस मामले को सुलझाया।

पिता ने सुबह पैसे देने की कहा, तब नरोत्तम को छोड़ा

नरोत्तम की मारपीट कर दुष्कर्म व छेड़छाड़ के केस में फंसाने की धमकी दी गई। इसके बाद शिक्षक पिता को फोन लगाकर बातचीत की। पिता ने 11 जुलाई की सुबह तीन लाख रुपए देने की बात कही, तब जाकर नरोत्तम को हनीट्रैप गैंग ने छोड़ा।

अपने साथ रचे गए षडयंत्र के बाद नरोत्तम कोतवाली पुलिस थाने पहुंच गया। सारी घटना बताने के लिए पुलिस ने छानबीन की और फिर हनीट्रैप गैंग पर केस दर्ज कर लिया।

अभी छानबीन जारी हैं हो सकते है कई खुलासे

पकडे गए युवक युवती का यह पहला मामला नही हैं इससे पूर्व भी शहर के कई लोगो को यह अपने जाल में फसा चुके हैं पुलिस अभी इस मामले की छानबीन कर रही हैं वही पुलिस ने भी लोगो से अपील की हैं अगर उनके साथ ऐसाी कोई घटना हुई है तो वह कोतवाली में आकर अपनी शिकायत दर्ज कराए।