36 घंटे में 60 मिमी बारिश: सोयाबीन की फसल की एक्सपायरी डेट निकली, वेंटिलेटर पर फसले - Shivpuri News

शिवपुरी। जुलाई के 16 दिनो में जिले के आसमान में बादलो की हडतात रही,इस कारण पानी नही बरसा और किसानो के द्धवारा बोया गई सोयाबीन की फसले जिंदा जलकर वेंटिलेटर पर आ गई थी। 17 जुलाई की शाम से जिले के आसमान में राहत भरे बादल आए और उन्होने पानी गिराया,जिससे किसानो की खेतो की फसले जिंदा हो गई,लेकिन खाली पडे खेतो में सोयाबीन करने की एक्सपायरी डेट निकल गई,लेकिन विशेषज्ञो का कहना है कि सठिया सोयाबीन किसान कर सकते हैं।

17 दिन के आंकडे पर भारी रहे 36 घंटे

जुलाई के 16 दिन मानसून सक्रिय नहीं रहने से शिवपुरी जिले में सूखे जैसे हालात बन गए थे। 16 दिनों में महज 41.44 मिमी औसत बारिश हुई थी। लेकिन बीते 36 घंटे में ही शिवपुरी जिले में 59.85 मिमी औसत बारिश हो गई है।

यानी जितना पानी 16 दिन में बरसा, उससे डेढ़ गुना ज्यादा बारिश हुई।शिवपुरी जिले में 17 जुलाई की शाम से बादल छाने के साथ बारिश का सिलसिला शुरू हो गया। जिले में 18 जुलाई को जिले भर में बारिश हुई। यह बारिश खरीफ फसलों के लिए अमृत के समान है।

बारिश होने के कारण उतरा 8 डिग्री तक पारा, बारिश का 24.43%

जिले में 60% खरीफ बोवनी के बाद खेतों में मुरझाती फसल के साथ किसानों के चेहरे भी उतरे हुए थे। लेकिन बरसात हो जाने से किसानों के चेहरे फिर से खिल उठे हैं। बारिश और बादलों की वजह से शिवपुरी शहर में दो दिन में अधिकतम पारा 8 डिग्री तक गिर गया है।

तेज धूप और उमस से लोगों को पूरी तरह राहत मिल गई है। सोमवार को अधिकतम पारा 30 व न्यूनतम 24 डिग्री रहा। जबकि शनिवार को अधिकतम पारा 38 डिग्री और न्यूनतम 26 डिग्री सेल्सियस था।

बता दें कि पिछले से 19 जुलाई की सुबह 8 बजे तक 171.28 मिमी औसत बारिश हुई थी। जबकि इस साल 199.50 मिमी औसत बारिश हो गई है। यानी पिछले साल से इस बार 28.22 मिमी ज्यादा पानी बरस चुका है। मौसम विभाग की माने तो आगे भी तीन-चार दिन बारिश के आसार हैं।

रन्नौद में दो घंटे, बदरवास में डेढ़ और कोलारस में एक घंटे बारिश

सोमवार को उप तहसील रन्नौद में शाम दो घंटे तक बारिश हुई है। बदरवास में दोपहर 3 बजे से 4:30 बजे तक डेढ़ घंटे बारिश हुई है। कोलारस नगर व आसपास गांवों में सोमवार की शाम 5:30 बजे से 6:30 बजे तक करीब एक घंटे बारिश हुई है। पिछोर में दिन भर मामूली बंूदाबांदी होती रही है। खनियाधाना में भी दस से पंद्रह मिनिट रिमझिम बारिश हुई है। वहीं जिले के करैरा, नरवर, पोहरी, बैराड़ में बारिश नहीं हुई। भौंती में नहीं बरसा। नहीं हुई है। नरवर में बारिश नहीं हुई।

सामान्य औसत का 24.43% पानी बरसा, अभी 75% बारिश की और जरूरत

शिवपुरी जिले की कुल सामान्य औसत बारिश 816.3 मिमी निर्धारित है। इस साल 199.50 मिमी औसत बारिश हो चुकी है, जो कुल सामान्य औसत काेटे की बारिश का 24.43% है। यानी जिले में अभी 75% बारिश की और जरूरत है। तब जाकर सौ फीसदी सामान्य औसत बारिश का कोटा पूरा हो पाएगा।

फसलो को लगा राहत का टीका,खाली खेतो मेें यह फसल हो सकती हैं

डॉ.एमके भार्गव वरिष्ठ वैज्ञानिक कृषि वैज्ञानिक का कहना हैं कि एक तरह से फसलें वेंटीलेटर पर चल रहीं थीं, लेकिन बरसात के रूप में फसलों के लिए यह राहत का बडा टीका है। किसानों के रोज फोन आ रहे हैं कि खाली खेतों में क्या बोएं और क्या ना बोएं। किसानों को हमारी सलाह है कि खेल खाली ना छोडें। वैकल्पिक फसलों के रूप में अभी मूंग, उड़द, तिल, टमाटर, मिर्च, अजवाइन की बोवनी कर सकते हैं। बाजरा की बोवनी भी कर सकते हैं।

कम समय वाली सोयाबीन की भी बोवनी की जा सकती है। खासकर पोहरी व शिवपुरी तहसील के किसान अजवाइन कर सकते हैं। अजवाइन और बाजरा की एक बीघा में एक किग्रा लगता है। शिवपुरी शहर के आसपास वाले किसान टमाटर का उत्पादन ले सकते हैं।