मेडिकल कॉलेज जिले के लिए बन रहा है वरदान: ब्लड केंसर और मृत व्यक्ति की विसरा जांच भी होगी शुरू - Shivpuri News

शिवपुरी। कागज के टूकडे पर बना शिवपुरी का मेडिकल कॉलेज अब शिवपुरी के लिए वरदान सिद्ध होता जा रहा हैं। फिलहाल मेडिकल कॉलेज का शुरूवाती दौर हैं,लगातार सुविधाओ की यहां से खबरे आना शुरू हो गई है। शिवपुरी मेडिकल कॉलेज वर्तमान में कोरोना की जांच और इलाज जारी हैं।

जांचो को लेकर एक गुड न्यूज पिछलो दिनो शिवपुरी मेडिकल कॉलेज शिवपुरी से आई थी कि मात्र 10 रूपए की दर पर कई मंहगी-महंगी जांचे अब मेडिकल कॉलेज में जल्द ही शुरू हो जाऐगी। कॉलेज के अस्पताल में आधुनिक ब्लड बैंक में शुरू होने वाला हैं। इस ब्लड बैंक में ब्लड सेपरेटर मशीन में भी स्थापित होगी,जो मानव शरीर के ब्लड में उपस्थित तत्वो  को अलग अलग करेंगी अर्थात एक ब्लड को चार लोगो के उपयोग में लाया जा सकता हैंं।

ब्लड केंसर और विसरा की जांच शिवपुरी में संभव

अब तक क्रिमिनल केस में पोस्टमार्टम के बाद विसरा (मृतक के अंगों की जांच) रिपोर्ट आने में जहां महीनों लग जाते थे। वह जांच अब श्रीमंत राजमाता विजयाराजे सिंधिया मेडिकल कॉलेज शिवपुरी में महज 10 दिनों में मिलेगी। इससे मृत्यु का कारण जल्द पता चलेगा और पुलिस को इन्वेस्टिगेशन में मदद मिलेगी।

वहीं ग्वालियर की बजाए अब मेडिकल कॉलेज शिवपुरी में यह जांच हो सकेगी। इन जांचों का लाभ शिवपुरी जिले के अलावा गुना, अशोकनगर, श्योपुर जिले को भी मिलेगा, जिससे वह ग्वालियर की बजाए शिवपुरी मेडिकल कॉलेज में ही जांच करा सकेंगे।

मेडिकल कॉलेज के डीन डॉक्टर अक्षय निगम ने बताया कि कॉलेज के पैथोलॉजी विभाग में पीएम और कैंसर जांच प्रारंभ हो गई है। प्रदेश की खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया के 4 दिन पहले हुए दौरे के दौरान मिले दिशा निर्देशों के बाद मेडिकल कॉलेज में सुविधाओं का विस्तार होता जा रहा है। पैथोलॉजी विभाग में शिवपुरी, गुना, अशोकनगर, श्योपुर से प्राप्त होने वाले पोस्टमार्टम उपरांत अंगों की हिस्टोपैथोलॉजिकल परीक्षण शुरू हो गया है।

पैथोलॉजी विभाग अध्यक्ष डॉक्टर अपराजिता तोमर ने बताया कि शुक्रवार को पोस्टमार्टम उपरांत प्राप्त हार्ट का परीक्षण अत्याधुनिक उपकरणों की सहायता से डॉक्टर टीम द्वारा किया गया। पीएम उपरांत अंगों की हिस्टोपैथोलॉजिकल रिपोर्ट के लिए सैंपल ग्वालियर भेजने की आवश्यकता नहीं होगी।

डॉ. हेमलता बामोरिया और डॉ. शिल्पा मोटघरे ने बताया कि कॉलेज छात्रों को प्रशिक्षित करने और हिस्टोपैथोलॉजी जांच के लिए अत्याधुनिक पेंटा और डेका हेड माइक्रोस्कोप डिपार्टमेंट में उपलब्ध है। जिसमें क्रमशः 5 और 10 विशेषज्ञ एक साथ मिलकर परीक्षण कर सकते हैं और तो और अब ब्लड कैंसर का पता भी यहीं जांच कर आसानी से लगाया जा सकेगा।

10 दिन में मिलेगी रिपोर्ट

अब तक महीनों में पोस्टमार्टम की जांच रिपोर्ट मिल पाती थी। ग्वालियर यह जांच होती थी, इसलिए समय भी अधिक लगता था। लेकिन अब शिवपुरी में यह जांच शुरू हो गई है। न्यूनतम 10 दिनों में इसकी जांच मिल जाएगी। इसके साथ-साथ मेडिकल कॉलेज में ब्लड कैंसर जैसी जांचें भी आसानी से हो सकेंगी।
डॉ. अपराजिता तोमर, एचओडी पैथोलॉजी विभाग, श्रीमंत राजमाता विजयाराजे सिंधिया मेडिकल कॉलेज शिवपुरी