हेल्लो! आप को गलत वैक्सीन लग गई है,आप जल्दी केन्द्र पर आ जाए, बड़ी लापरवाही उजागर - Shivpuri News

शिवपुरी। खबर शहर की लचर स्वास्थ्य व्यवस्थाओं की है। यहां शिवपुरी कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह लगातार जिम्मेदारों की मोनीटरिंग कर रहे है। परंतु उसके बाबजूद भी इंसानों की जान से खिलबाड लगातार जारी है। इसका उदाहरण आज उस समय सामने आया जब शहर के मोती बाबा मंदिर के पास निवासरत कुलदीपक शर्मा के मोबाईल पर कॉल आया।

अभी के नंबर पर आए कॉल में एक युवक ने बताया कि वह स्वास्थ्य विभाग से बोल रहा है। आपके यहां जो वैक्सीन लगी है वह गलत लग गई है। आप तत्काल हमारे फतेहपुर स्थिति सेंटर पर पहुंचे और तत्काल दूसरी वैक्सीन लगवाए। जिसपर से कुलदीपक ने पूछा कि गलत कैसे लगी है उसे तो सही वैक्सीन लगी है। उसका उसके पास प्रमाण पत्र भी है।

जिस पर कॉलर ने बताया कि उस दिन प्रमाणपत्र गलत जारी हो गए थे। दरअसर हुआ यह कि कुलदीपक शर्मा और नवीन अरोरा ने आॅनलाईन स्लॉड बुक किए। जिसमें 17 मई को उनका स्लॉड नालंदा अकेडमी में मिला। नवीन और कुलदीपक दोनों वहां पहुंचे और वैक्सीन लगवाकर आ गए। उसके बाद उन्हें आॅनलाईन प्रमाण पत्र मिला। जिसमें वहां पदस्थ नर्स आरती कवीर द्धारा उन्हें कोवीशील्ड लगाना बताया गया। साथ ही दूसरा डॉज 84 दिन बाद लगाना बताया।

जिसके चलते वह अपनी बारी का इंतजार करने लगे। परंतु आज फोन आया कि उन्हें कोवीशील्ड नहीं बल्कि को वैक्सीन लगी है। उस दिन गलत एन्ट्री हो गई। और आपकें साथ बाले 17 लोगों को कोवैक्सीन लगी है। जबकि इन्ट्री कोवीशील्ड की हो गई। आप तत्काल फतेहपुर स्थिति शासकी विद्यालय पहुंचे और कोवैक्सीन का दूसरा डॉज लगवा ले। जिसपर से दोनों वहां पहुंचे तो वहां 17 लोगों की सूची में उनका नाम सामने आया।

अब इस तरह की लापरवाही से कॉकटेक का खतरा  सामने आ रहा है। अब इस तरह की लापरवाही किस हद तक सही है। यह समझ से परे है।

इनका कहना है
उसका आईडी खुल गई थी। जिससे मिसमेच हो गया था। सुनील जैन ने उन सभी 17 लोगों को कॉल कर फिर से बुला लिया है। उन्हें वह कोवैैक्सीन लगवा रहे है।
डॉ संजय ऋषीश्वर,जिला टीकाकरण अधिकारी शिवपुरी।