संदिग्ध परिस्थिति में रजनी की मौत, गुपचुप तरीके से अंतिम संस्कार कर रहे थे ससुरालजन, पुलिस ने जाकर रूकवाया - Shivpuri News

शिवपुरी। खबर शहर के सिटी कोतवाली क्षेत्र के एमएम अस्पताल के पीछे से आ रही है। जहां एक महिला की संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गई। इतना ही नहीं महिला की मौत की खबर उसके मायके पक्ष के लोगों को न किए जाकर उसका सीधा अंतिम संस्कार करने के लिए ससुराल वाले बैराड पहुंच गए और अंतिम संस्कार करने की तैयारी करने लगे जिसके बाद मायके पक्ष की शिकायत के बाद पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लिया और पीएम कराया।

पीएम कराने के बाद अब तक पुलिस किसी नतीजे पर नहीं पहुंची और अब तक ससुराल वालों के खिलाफ कोई कार्रवाई भी नहीं की है जिससे मायके पक्ष के लोगों में रोष है। ससुरालजन पुलिस पर कार्यवाही न करने का आरोप लगा रहे है।

जानकारी के अनुसार रजनी की शादी 16 साल पहले गोवर्धन के धौरिया में रहने वाले युवक के साथ हुई थी लेकिन 16 साल से उनके यहां कोई बच्चा नहीं था जिसके बाद कुछ साल पहले पति पत्नी शिवपुरी आकर रहने लगे थे लेकिन रात के समय एकाएक ऐसा क्या हुआ कि रजनी की मौत हो गई और सुबह के समय उसका अंतिम संस्कार करने ससुराल वाले बैराड भी पहुंच गए।

वह भी रजनी के मायके के लोगों को खबर किए बिना ही। इससे एक बात साफ है कि यदि रजनी की मौत सामान्य थी तो उसके परिजनों को क्यों सूचित नहीं किया गया। यदि रजनी की मौत को लेकर किसी डॉक्टर या पुलिस को खबर क्यों नहीं दी।

इतना ही नहीं उसका पीएम क्यों नहीं करवाया। ऐसी क्या जल्दबाजी थी कि उसका अंतिम संस्कार उसके मायके पक्ष के लोगों को खबर किए बिना ही किया जा रहा था।

मायके पक्ष का आरोप दहेज के लिए करते थे परेशान

इधर रजनी के मायके पक्ष के लोगों का आरोप है कि रजनी को मानसिक रूप से परेशान किया जा रहा था। एक तो उसके बच्चे नहीं थे तो दूसरी ओर उससे लगातार दहेज की मांग की जा रही थी जिससे रजनी मानसिक रूप से परेशान थी। इस बात का कई बार जिक्र उसने अपने परिजनों से भी किया।

पति और ससुरालियों से हो पूछताछ

मायके पक्ष का कहना है कि रजनी के पति और उसके ससुराल वालों से पूछताछ की जाएं तो पूरा मामला खुल सकेगा और रजनी की मौत का राज दुनिया के सामने आ सकेगा। क्योंकि रजनी की मौत सामान्य नहीं हैं बल्कि उसका मर्डर किया गया है और उसके मर्डर को छुपाने के लिए ही ससुराल वाले आनन फानन में उसका अंतिम संस्कार कर रहे थे।