आरोपी से मृतक की पत्नि के थे अवैध संबंध, प्रेमी ने दोस्त के साथ मिलकर हत्या कर दी - khaniyadhana News

शिवपुरी। जिले के भौंती थाना क्षेत्र के कडोरा निवासी वीरेंद्र प्रजापति की हत्या का हालांकि अभी सुराग नहीं लगा है। लेकिन पुलिस का कहना है कि इस मामले में अवैध संबंधों के चलते मृतक की पत्नी की भी भूमिका हत्या के मामले में सामने आई है।

जानकारी के अनुसार संजीव प्रजापति उर्फ वीरेन्द्र निवासी कोटरा थाना पिछोर की नग्र लाश हत्या कर आरोपीगण सड़क पर फेंक गए थे। वीरेंद्र प्रजापति के साथ मौजूद नीरज परिहार आरोपियों के उग्र रूप को देखकर भाग खड़ा हुआ था। मृतक की लाश को पास ही उसकी मोटरसायकल पड़ी हुई थी।

इस मामले में मृतक के साथ मौजूद नीरज परिहार ने बताया कि वीरेंद्र प्रजापति ने उससे कहा कि टीला में किसी शादी में खाना खाने जाना है और खाना खाकर आधे घंटे में वापिस लौट आएंगे। नीरज का कहना है कि मैंने उससे कहा कि पानी बरस रहा है। लेकिन उसने कहा कि जल्द आ जाएंगे। इसके बाद वीरेंद्र प्रजापति और नीरज मोटरसायकल पर सवार होकर खोड़ के लिए रवाना हो गए।

उस समय आसमान पर बादल छाए हुए थे और रिमझिम बरसात हो रही थी। नीरज का कहना है कि खोड़ से पहले वीरेंद्र के मोबाइल पर किसी का फोन आया और वीरेंद्र उससे बातचीत करने लगा। फोन करने वाला जो कि रोड़ के नजदीक था, उसने वीरेंद्र को अपने पास बुलाया। जब वीरेंद्र वहां गया तो चार-पांच अन्य आरोपी भी थे। जिन्होंने उसकी बुरी तरह पिटाई लगाना शुरू कर दी।

यह देखकर घबराकर नीरज वहां से भाग निकला। नीरज का कहना है कि इसके बाद वह करैरा थाने पहुंचा और उसने पुलिसकर्मियों को बताया कि उसके साथी की कुछ लोग टीला रोड़ पर मारपीट कर रहे हैं। लेकिन पुलिस ने कहा कि रिपोर्ट सुबह लिखी जाएगी। परंतु पुलिसकर्मियों का कहना है कि रात में कोई उनके पास रिपोर्ट लिखाने नहीं आया।

एक व्यक्ति अवश्य आया था, जो पूछ रहा था कि वीरेंद्र नामक कोई व्यक्ति बंद है या नहीं। इस पूरे मामले में पुलिस नीरज को संदेह के घेरे में देख रही है और उसके बयानों की पुष्टि करने में जुटी हुई है। वीरेंद्र प्रजापति की कुछ समय पूर्व ही शादी हुई थी और उसकी लाश दूसरे दिन टीला रोड़ पर बामौर गांव के नजदीक नग्र अवस्था मेें पड़ी मिली।

नीरज के शरीर पर चोट के निशान थे और ऐसा भी प्रतीत होता है कि उसका गला भी दबाया गया था। मृतक का पोस्टमार्टम मनपुरा में किया गया। पुलिस मृतक की नग्र लाश देखकर आशंका व्यक्त कर रही है कि अवैध संबंध इस हत्या के मूल में हो सकते हैं।

पत्नी ने पति को शादी में शामिल होने बुलाया था
पुलिस सूत्र बताते हैं कि वीरेंद्र प्रजापति को उसकी पत्नी ने टीला गांव में आयोजित एक विवाह समारोह में शामिल होने के लिए फोन कर बुलाया था और इसके बाद उसकी हत्या कर दी गई थी।

मृतक की पत्नि से आरोपी के थे अवैध संबंध इसलिए की हत्या
इस मामले में पुलिस ने खुलासा करते हुए बताया है कि इस हत्याकाण्ड के पीछे अवैध संबंध सामने आए है। बताया जा रहा है कि मृतक संजीव प्रजापति निवासी कोटरा थाना पिछोर का उमेश से प्रेम प्रसंग चल रहा था। जिसके चलते आए दिन संजीव उमेश की पत्नि को फोनकर उसे बुलाने की जिद करता था।

यह बात एक दिन उमेश को पता चल गई। जिसके चलते उसने अपने दोस्तों के साथ मिलकर युवक की हत्या की प्लानिंग की। और युवक को बुलाकर उसकी जमकर मारपीट की। उसके बाद युवक की मौत होने पर साख्क्ष छुपाने के लिए युवक की लाश और मोटरसाईकिल को रोड किनारे छोडकर भाग गए जिससे यह घटना एक्सीडेंट लगे।

इस मामले में करैरा पुलिस ने 7 आरोपी उमेश प्रजापति , राहुल प्रजापति , सहदेव जाटव , जीतेन्द्र साह , सागर विश्वकर्मा , दिलीप लोहपीटा , राजकपूर को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से घटना में प्रयुक्त कार , मोटर सायकिल एंव लाठी डण्डे व बेल्ट एंव आरोपीगण की निशानदेही से मृतक के कपड़े भी जाम कर लिये हैं । दो फरार आरोपी गजेन्द्र पाल व अंकित लोधी की शीघ्र ही गिरफ्तारी की अभी नहीं हो सकी है।