कोरोना के बाद किराना का संकट: 30 दिन से बंद हैं बाजार, रेट आसमान पर,लघु उद्योग जमीन पर - Shivpuri News

शिवपुरी। जिले में आज कोरोना कफ्र्यू 30 दिन का हो गया हैं। 30 दिन से बाजार बंद हैं। अब सीएम ने आज 30 मई तक कोरोना कफ्यू बढा दिया हैं,ऐसे में कोरोना से अधिक किराने की चिंता होने लगी हैं। बाजार में किराने की दुकानो मे समान शोर्ट होने लगा हैं। इस कारण रेटे आसमान छू रही हैं।

जैसा कि विदित हैं कि प्रशासन ने किराना संचालको को होक डिलेवरी का ओदश किया था लेकिन 1 प्रतिशत भी होम डिलेवरी नही हो सकी,आधी शटर पूरा व्यापार किराना वालो को चल रहा हैं,किराना संचालको का कहना हैं कि ग्वालियर व अन्य शहरो से किराने में भी किराने के समान की किल्लत हो गई हैं। इस कारण दाम बढ रहे हैं।

सबसे ज्यादा असर तम्बाकू के उत्पादो पर

इस कोरोना काल में सबसे अधिक तम्बाकू के खाने वाले उत्पादो पर पडा हैं। जहां तक 10 नंबर तम्बाकू के भाव तो दुगने हो गए है,साथ में चूने की डिब्बी तक अपने भाव दिखा रही है। गुटकाओ पर 50 प्रतिशत से अधिक रेटे बढ गई हैं।

बच्चों का प्रिय पारले जी शोर्ट

बच्चों को सबसे अच्छा बिस्किट पारले जी लगता है चाहे बडा आदमी हो या फिर मध्यमवर्गीय से लेकर गरीब तबके के आदम की पहुंच में यह बिस्किट है ऐसे में बाजार में अब पारले जी की शार्टेज होना शुरू हो गई है और कई दुकानों पर पारले जी ही उपलब्ध नहीं हैं।

सरसों और रिफाइंड के आसमान छूते दाम

लॉकडाउन के पहले तक सोयाबीन तेल 15 लीटर 2150 रूपए में मिल रहा था लेकिन लॉकडाउन लगते ही तेल के दाम आसमान छू रहे हैं और ब 15 लीटर का जार 2350 रूपए में मिल रहा है। यहीं हाल सरसों के तेल का भी है वह भी अब महंगे दामों पर मिल रहा है।

घरेलू उघोगों की टूटी कमर

घरेलू उघोग पूरी तरह से चौपट हो गए हैं। जो महिलाएं पापड, बडी और अगरबत्ती सहित फुल बत्ती बनाकर अपना पेट पालती थीं आज वे बेरोजगार है बाजार नहीं खुलने से उनके माल की सप्लाई नहीं हो पा रही है जिससे उनकी पूंजी तो अटकी है साथ ही उन्हें बेरोजगारी का दंश भी झेलना पड रहा है।