यह है वैक्सीन की ताकत: वैक्सीन का पहला डोज लगवाने के बाद पाॅजीटिव हुए बुजुर्ग, संक्रमण का आक्रमण रहा कम - Shivpuri News

शिवपुरी। कोरोना की चैन तोडने और संक्रमण का आक्रमण कम करने के लिए वैक्सीन अब वरदान बन गई हैं। आम जन कुछ भ्रामक जानकारियो के कारण वैक्सीजन नही लगवा रहे हैं,लेकिन वैक्सीन बन रही हैं वरदान जैसी भी खबर शिवपुरी से निकल कर रही हैं,यह खबर आप सभी को पढना चाहिए और जो वैक्सीन लगवाने के लिए बहाने कर रहा हैं उसे भी इस खबर को पढाए।

अपना घर आश्रम शिवपुरी के 62 साल के रमेशचंद्र अग्रवाल 10 मार्च को पहला डोज लगाय था। खास बात यह है कि वैक्सीन लगने के आठ दिन बाद ही बुखार के साथ अग्रवाल पॉजिटिव आ गए, लेकिन कोरोना संक्रमित होने के बाद भी कोई परेशानी नहीं आई और घर पर ही रहकर जल्द स्वस्थ हो गए। स्वस्थ होने के बाद समय पर दूसरा डोज लगवा लिया है।

रमेशचंद्र अग्रवाल 62 का कहना है 10 मार्च को कोविशील्ड का पहला डोज लगवाया था। करीब आठ दिन बाद बुखार आया और जांच कराई तो कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आई। हालांकि बुखार एक-दो दिन ही रहा और घर पर होम आइसोलेशन में रहकर स्वस्थ हो गए।

अग्रवाल का कहना है कि अब 22 अप्रैल को सामुदायिक अस्पताल बदरवास पहुंचकर दूसरा भी लगवा लिया है। क्योंकि पहला डोज लगने के बाद कोरोना से वह ज्यादा प्रभावित नहीं हो पाए। कोरोना से सुरक्षित रहने के लिए दूसरा डोज भी लगवा लिया है। बीएमओ डॉ एचबी शर्मा का कहना है कि अन्य लोग भी समय पर वैक्सीन जरूर लगवाएं।

96 साल की धनकुंवर ने लगवाया दूसरा डोज

विवेकानंद कॉलोनी में रहने वाली 96 साल की धनकुंवर मजेजी ने भी कोरोना वैक्सीनेशन सेंटर पर पहुंचकर कोरोना से बचाव का दूसरा टीका बड़े उत्साह के साथ लगवाया। वैक्सीनेशन के बाद 96 साल की धनकुंवर मजेजी ने कहा कि सभी लोग इस महामारी से बचने के लिए टीका लगवाएं और घबराने की कोई जरूरत नहीं है।