पूर्व विधायक के पिता का निधन,अंतिम संस्कार में जुटे सैकड़ों लोग, नियमों का उल्लंघन - Shivpuri News

शिवपुरी। भाजपा के पूर्व विधायक देवेंद्र जैन एवं पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष जितेेंद्र जैन गोटू के पिता बच्चनलाल जैन का आज सुबह बीमारी के चलते मेडीकल कॉलेज के आईसीयू वार्ड में निधन हो गया। जिनकी अंतिम यात्रा आज सुबह उनके निजनिवास महल कॉलोनी से निकाली गई, जिनका अंतिम संस्कार उनके बडौदी स्थित फार्म हाऊस पर कोविड नियमों के विपरित सैकड़ों लोगों की उपस्थिति में किया गया।

उनकी अंतिम यात्रा में भी बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे। जबकि प्रशासन ने शव यात्रा और अंतिम संस्कार में कोरोना संकट के चलते 10 लोगों के उपस्थित होने का निर्देश दिया है। लेकिन मामला पूर्व विधायक से जुडा होने के कारण प्रशासन के सभी निर्देश शिथिल हो गए। पुलिस और प्रशासन आंख मूंदे रहा और कोई कार्रवाई नहीं की गई।

जानकारी के अनुसार बच्चनलाल जैन को लंग्स में इंफेक्शन के चलते मेडीकल कॉलेज के आईसीयू वार्ड में भर्ती कराया गया था। परिजनों के अनुसार उनका कोरोना टेस्ट निगेटिव आया था। जिन्होंने आज सुबह इलाज के दौरान मेडीकल कॉलेज में अंतिम सांस ली। इसके बाद परिजन उनके शव को लेकर घर आ गए। जहां उनकी अंतिम यात्रा निकाली गई।

सुबह 10 बजे उनके निवास महल कॉलोनी पर बड़ी संख्या में लोगों का जुटना शुरू हो गया। इसके बाद अंतिम शव यात्रा वाहन से उनकी शव यात्रा निकाली गई। इस दौरान भी लोग बड़ी संख्या में मौजूद रहे। बाद मेें शव यात्रा बडौदी स्थित उनके फार्म हाऊस पर पहुंची। जहां उनका अंतिम संस्कार हुआ। इस दौरान भी लोगों की भीड़ वहां लगा रही और वहां पर सोशल डिस्टेंसिंग का नियम भी टूट गया था।

इस मामले में जब कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह से फोन पर सम्पर्क किया तो उन्होंने यह कहते हुए फोन काट दिया कि उन्हें व्हॉट्सएप पर मैसेज कर जानकारी दें। जब उनके व्हॉट्सएप पर कार्रवाई को लेकर मैसेज किया गया तो उन्होंने उस मैसेज का रिप्लाई नहीं दिया। वहीं एसडीएम अरविंद वाजपेयी ने भी फोन रिसीव नहीं किया।

आम लोगों पर कार्रवाई खास लोगों को अभयदान क्यों?

बाजारों में बिना मास्क के घूमने वाले और छोटे-मोटे दुकानदारों पर पुलिस और प्रशासन मिलकर कार्रवाई कर रहा है। क्योंकि वहां सोशल डिस्टेङ्क्षसंग और कोरोना नियमों की अनदेखी की जाती है। कहीं पर अगर 4 लोग एकत्रित हो जाएं तो उन पर भी कार्रवाई होती है। जहां तक तो सही है। लेकिन जब शहर के जिम्मेदार और प्रतिष्ठित पदों पर आसीन रह चुके लोग।

कोविड नियमों का उल्लंघन करते हैं तो उन पर प्रशासन दोहरी नीति क्यों अपनाता है, यह एक यक्ष प्रश्र है। ऐसे लोगों को अभयदान देकर प्रशासन खास लोगों को क्यों बख्शता है। अगर शव यात्रा मेें कोई आम व्यक्ति इतनी भीड़ एकत्रित करता तो अभी तक उस पर कार्रवाई की जा चुकी होती। प्रशासन को अपने इस दोहरे रवैये पर लगाम लगानी होगी और सभी के लिए एक नियम के तहत कार्रवाई करनी होगी। तब जाकर हम कोरोना से जीत सकेंगे।

इनका कहना है-

कोविड गाईडलाईन का उल्लंघन करने वालों पर कार्रवाई होगी। आप स्वयं जागरूक नागरिक हैं। आपको ऐसे लोगों के खिलाफ एफआईआर कराने के लिए सामने आना चाहिए। शिकायत दर्ज कराने के लिए आप कोतवाली पहुंचे। मैं एफआईआर दर्ज करने के लिए टीआई से बोलता हूं।
राजेश सिंह चंदेल, एसपी शिवपुरी