घरों में ही मनाया गया संकटमोचन का जन्मोत्सव, संक्रमित वायु को शुद्ध करने की कामना - Shivpuri News

शिवपुरी। आज संकटमोचक हनुमान जी का जन्मोत्सव मनाया जा रहा है। जहां घर-घर भगवान की पूजा की जा रही है। हालांकि मंदिरों पर कोविड के चलते सीमित संख्या में ही लोग दर्शनों के लिए पहुंच रहे हैं। शहर से 10 किमी दूर प्रसिद्ध बांकडे हनुमान मंदिर पर इक्का दुक्का भक्त ही दर्शनों के लिए पहुंचे।

जबकि हनुमान जन्मोत्सव के दौरान प्रतिवर्ष बांकड़े पर बड़ा मेला लगाया जाता था। लेकिन इस बार कोरोना संकट को देखते हुए यह मेला स्थागित कर दिया गया और मंदिर सिर्फ पूजा आराधना के लिए खोला जा रहा है। इस दौरान मंदिर में भक्तों के प्रवेश पर रोक लगी है।

हालांकि जो भक्त मंदिर पर पहुंच रहे हैं, वह बाहर से ही भगवान के दर्शन कर रहे हैं। शहरभर में घर-घर हनुमानजी की पूजा आराधना चल रही है और हनुमान चलीसा सहित सुंदरकाण्ड का पाठ भक्त कर रहे हैं। साथ ही इस भीषणकाल में संकटमोचन से संकट को हरने की प्रार्थना कर रहे हैं।

शहर में भी विभिन्न हनुमान मंदिरों पर भक्तों का प्रवेश बंद हैं और भक्त भगवान के दर्शनों के लिए मंदिर के बाहर से ही माथा टेककर अपनी उपस्थिति दर्ज करा रहे हैं। घरों मेें सुबह से ही परिवार के साथ लोग हनुमान जी की सेवा पूजा में लगे हुए हैं।

माधव चैक हनुमान मंदिर, मंशापूर्ण मंदिर, खेड़ापति मंदिर, चिंताहरण मंदिर, पंचमुखी हनुमान मंदिर, बडा हनुमान मंदिर कत्थामिल सहित मंदिरों पर सिर्फ भगवान की पूजा मंदिर के पुजारी या महंत कर रहे हैं और इन सभी मंदिरों पर कोई भी बड़ा धार्मिक अनुष्ठान आयोजित नहीं किया जा रहा।

वहीं बालाजी धाम मंदिर अस्थाई रूप से पूर्णतरू बंद कर दिया गया है। जहां हनुमानजी की सेवा पूजा के लिए सिर्फ मंदिर के महंत को ही मंदिर में प्रवेश दिया गया।