बोलते फोटो: यह है शिवपुरी का COVID वार्ड, कोरोना वायरस के लिए तो स्वर्ग के समान है

सत्येंद्र उपाध्याय की रिपोर्ट
। दुनिया के हर व्यक्ति को पता है कि कोरोनावायरस संक्रमण से बचाव के लिए स्वच्छता पहली अनिवार्य शर्त है। अब तो लोगों को यह भी पता चल गया कि नया वाला कोरोनावायरस प्रदूषण के कारण तेजी से फैलता जा रहा है लेकिन शायद शिवपुरी जिला चिकित्सालय में पदस्थ सरकारी मान्यता प्राप्त भगवानों को इसकी जानकारी नहीं है या फिर शायद वह चाहते हैं कि शिवपुरी में ज्यादा से ज्यादा मरीजों की मौत हो जाए। 

CORONA वार्ड के वॉश बेसिन और टॉयलेट फुल

वार्ड के वाॅशवेशन से लेकर शौचालय पूरी तरह से भर चुके हैं। ऐसे में अंदाजा लगाया जा सकता है कि यहां भर्ती मरीजों को किस तरह की असुविधा का सामना करना पडता है।

वार्ड में ऑक्सीजन का जहरीली गैस ज्यादा

यहां भर्ती मरीजों का कहना है कि बदबू से लोगों को परेशानी का सामना करना पडता है। इतना ही नहीं बदबू के मारे लोगों को सांस लेने में भी तकलीफ आती है। रात को न तो सो सकते हैं और न ही खाना खा सकते हैं। बताने की जरूरत नहीं की जिस क्षेत्र में ऑक्सीजन की कमी होती है और जहरीली गैसों की मात्रा बढ़ जाती है वहां बदबू आती है।