सरकारी जमीनो पर माफियाओ का कब्जा, राजस्व अमला नींद में - kolaras News

रन्नौद। जिले के रन्नौद तहसील कार्यालय के समीप की बेशकीमती करोडों रूपए की सरकारी जमीनों पर माफियाओं ने अवैध कब्जा करना शुरू कर दिया है और यह लोग यहां पक्का निर्माण कर रहे हैं लेकिन राजस्व अमला है कि उनकी नाक के नीचे कब्जा हो रहा है लेकिन वह गहरी नींद में सोया हुआ है।

शासकीय जमीन के अबैध कब्जे को रोकने में प्रशासन के जिम्मेदार अधिकारियों का पसीना छूट रहा है। जिसके चलते क्षेत्र में शासकीय भूमि पर बेखोफ कब्जाधारियों की बाढ़ सी आ गई है एवं उसे रोकने में अभी तक प्रशासन बेबस और लाचार नजर आ रही है। गौरतलब है कि, तहसील रन्नौद के इर्द गिर्द कब्जे दिन व दिन तेजी पकड़ रहे है।

तहसील के छोटे बड़े जिम्मेदार पे खूब शिकायत के बाद हिस्सा पहुच रहा है इस लिए बेबस नजर आ रहे हैं। शासकीय जमीन की खरीदी बिक्री की शिकायत रन्नौद तहसीलदार से लेकर जिले के आलाधिकारियों से जागरूक ग्रामीणों के द्वारा शिकायत की गई है। लेकिन जवाबदार अधिकारियों को जरा भी ध्यान नही है। वही कब्जाधारी द्वारा इस सरकारी भूमि पर न केवल कब्जा किया जा रहा है बल्कि आसपास के और शासकीय जमीन को भी अपने कब्जा किया जा रहा है।

ग्रामीण बोले शमशान तक नहीं छोडा

ग्राम रन्नौद के ग्रामीणों ने इसकी शिकायत करते हुए आरोप लगाया है कि रन्नौद के मरघट शाला व उसके आगे वर्षो से सरकारी जमीन पड़ी है जिसका खसरा नम्बर 2018, है। जिसका रकाब 0.19 व अन्य ऐसे कई एकड़ भूमि जमीन है जिन पर कब्जे के साथ मकान दुकान बनना जारी है परन्तु जिम्मेदार के कान में जुन्ह नही रेंग रही । परंतु नतीजा जीरो ही है।

साथ ही यह बात किसी से छिपा भी नही है कि शासकीय भूमि को अधिकारी रुचि ही नही ले रहे है। अस्पताल परिसर की ओर एक कब्जा जयपाल राय ने कर लोगो परेशान कर रखा है जिम्मेदार ने आज तक नोटिस की कार्यवाई तक नही की ओर देखते देखते निर्माण बन कर तैयार हो गया,।इससे यह प्रतीत होता है कि बेजाकब्जा हटाने में प्रशासनिक अमला को कोई सरोकार नही है। जिसके चलते कब्जाधारी बेखौफ होकर शासकीय भूमि पर कब्जा करने में लगे हुए है।

तहसील मुख्यालय का तो और बुराहाल

अतिक्रमण हटाने में प्रशासनिक अधिकारियों की विफलता ही कहे कि तहसील मुख्यालय होने के बावजूद भी नगर पंचायत रन्नौद में शासकीय भूमि की स्थित यह है कि साथ ही यहां अनेक शासकीय कार्यालय भवन निर्माण होना है। लेकिन आज के दौर में रन्नौद में सरकारी भूमि पर पूरी तरह से अतिक्रमणकारियों के कब्जे में है।

जहाँ अतिक्रमणकारी शासकीय भूमि पर कच्चे पक्के के मकान निर्माण कर रहने लगे है। शासकीय जमीन की अतिक्रमण होने के कारण नगरवासियों को चारागाह की परेशानियों से जूझ रहे है।

यह बोले अधिकारी
आपके द्वारा मामला बताया है अबैध कब्जे जहां जहाँ है हम नोटिस देकर समय पर जल्द कार्यवाई करेंगे ,सरकारी नम्बर पर दुकान व मकान बन रहे जल्द उन्हें नोटिस देकर जमींदोज करेंगे।
प्रेमलता पाल तहसीलदार रन्नौद