नो एजुकेशन नो स्कूल फीस: SDM ने सुलटाया मेटर,50% स्कूल फीस देने पर बनी सहमति

कोलारस। नगर में एक निजी स्कूल संचालक अभिभावकों से पूरी फीस जमा करने के लिए नोटिस भेज रहा था। लेकिन अभिभावक कोरोना काल में बच्चे स्कूल ही नहीं गए और न ही ऑनलाइन पढ़ाई की फिर हम पूरी फीस किस बात की जमा कराए की बात कहकर विरोध कर रहे थे। हालात ये थी कि अभिभावकों स्कूल संचालक की मनमानी को लेकर एसडीएम को ज्ञापन सौंपकर कार्रवाई की मांग की थी।

इस पर विवाद बढ़ता देख एसडीएम ने बैठक आयोजित की। इसमें कोलारस पब्लिक स्कूल संचालक ने कहा कि स्कूल के खर्च अधिक होते हैं मैं सिर्फ 10 फीसदी फीस कम कर सकता हूं। वहीं अभिभावक बोले कि कोरोना काल में हमारे बच्चे स्कूल ही नहीं गए और न ही ऑनलाइन की पढ़ाई की फिर हम पूरी फीस क्यों दे। इस पर एसडीएम गणेश जायसवाल ने स्कूल संचालक को निर्देश दिए कि जब स्कूल खुला ही नहीं तो फीस किस बात की। इस पर स्कूल संचालक 50 फीसदी फीस लेने को तैयार हो गया।

स्कूल संचालक रसीद पर दे फीस क ब्यौरा
बैठक के दौरान स्कूल संचालकों द्वारा दी जाने वाली फीस की रसीद पर सिर्फ राशि अंकित होती है। लेकिन उस पर किस बात की कितनी फीस ली जा रही है। इसका कोई ब्यौरा नहीं लिखा होता है। इस पर एसडीएम ने स्कूल संचालकों को सख्त निर्देश दिए कि आगे स्कूल की रसीद पर फीस का पूरा ब्यौरा दें, इससे अभिभावकों को पता चल सकें कि आखिर किस बात की कितनी फीस ली जा रही है।

चार घंटे चली बैठक
एसडीएम कार्यालय में स्कूल संचालक व अभिभावकों की बैठक शाम 2 बजे से 6 बजे तक आयोजित की गई। इस मौके पर बीईओ सहित अभिभावक अनरथ सिंह कुशवाह, दीपेश शिवहरे, वीरेंद्र सिंह लोधी, सुदर्शन भार्गव, राजू नामदेव, करण सिंह सहित अन्य अभिभावक मौजूद थे। इस मौके पर अभिभावकों ने एसडीएम को धन्यवाद ज्ञापित किया।