लेखापाल ने की BMO से अभद्रता, दवाब बनाकर बेटे को भर्ती करवाना चाहते हैं - karera News

शिवपुरी। जिले जिले के करैरा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थ बीएमओ डॉ . प्रदीप शर्मा के साथ बीते रोज अस्पताल के अंदर ही लेखापाल उमेश गुप्ता व उसके पुत्र नितिन गुप्ता ने गाली-गलौच करते हुए अभद्रता कर दी। लेखापाल के इस व्यवहार से परेशान बीएमओ ने सीएमएचओ व कलेक्टर को पत्र देकर उसे हटाए जाने की मांग की है ।

कलेक्टर व सीएमएचओ को दिए पत्र में बीएमओ डॉ.शर्मा ने उल्लेख किया है कि बीते 10 फरवरी को जब मैं अस्पताल में बैठकर सीएम हेल्पलाइन की शिकायतों का निराकरण कर रहा था, तभी लेखापाल उमेश गुप्ता व उसका पुत्र नितिन गुप्ता मेरे पास आए तथा गालियां देने लगे। जब मैंने गाली देने से रोका तो दोनों पिता-पुत्र ने मुझे जान से मारने की धमकी दी ।

डॉ.शर्मा ने पत्र में उल्लेख किया है कि उक्त लेखापाल इससे पूर्व भी कई बार इस तरह का व्यवहार कर चुका है और यदि मेरे साथ कोई अप्रिय घटना होती है तो इसका जिम्मेदार उमेश गुप्ता व उसका पुत्र नितिन गुप्ता होगा।

वहीं लेखापाल उमेश गुप्ता का कहना है कि मेरे अस्पताल में उपस्थित होने के बाद भी बीएमओ द्वारा मेरी अनुपस्थिति बताई जाकर मुझे परेशान किया जाता हैं। मेरे बेटे से कंप्यूटर का काम करवाने के बाद उसका भुगतान नहीं किया जा रहा हैं। मैंने बीएमओ के साथ कोई अभद्रता नहीं की ।

लेखापाल से स्टाफ सहित पेंशनर परेशान
करैरा अस्पताल में पदस्थ लेखापाल उमेश गुप्ता के कार्य और व्यवहार अन्य स्टाफ के साथ साथ पेंशनर भी परेशान हैं। बीते 20 अगस्त को करैरा अस्पताल में पदस्थ डॉक्टर अंकित ने भी कलेक्टर को पत्र लिखकर लेखापाल को हटाने की मांग की थी। इसके अलावा अस्पताल स्टाफ मधुलता दुबे,अतर सिंह परिहार,अवधेश गोयल भी लेखापाल को हटाने के लिए शिकायती पत्र दे चुके हैं।

इनका कहना हैं
अस्पताल के लेखापाल नियमित नही आते हैं और अनुपस्थित दिनो के वेतन निकलवाने के साथ साथ वो अपने बेटे को कम्प्यूटर आपरेटर के पद पर रखने के लिए दवाब बना रहे हैं। यह काम मेरे अधिकार क्षेत्र में नही हैं इसलिए वो मेरे साथ इस तरह की अभद्रता करते रहते हैं।
डॉ प्रदीप शर्मा,बीएमओ करैरा