1.7 करोड़ की जमीन का विवाद: डॉ सुनील तोमर ने भानू प्रताप सिंह तोमर के पुत्रों पर मामला दर्ज कराया - Shivpuri News

शिवपुरी। जमीन संबंधी मामले में शिवपुरी जिले के दो पूर्व डीएसपी के बीच विवाद और गहरा गया है। पहले सेवानिवृत डीएसपी भानू प्रताप सिंह तोमर ने एक अन्य पूर्व डीएसपी के खास माने जाने वाले मेडीकल कॉलेज में पदस्थ डॉ. सुनील तोमर, जमीन कारोबारी मोनू भगवती, इदरीश खान और एक रायफलधारी पर घर में घुसकर जान से मारने की धमकी देने का मामला दर्ज कराया था।

वहीं अब दो दिन बाद डॉ. सुनील तोमर ने पूर्व डीएसपी भानू सिंह तोमर के लड़कों पर गाली गलौंच, जान से मारने की धमकी का केस फिजीकल थाने में दर्ज करा दिया है। इस मामले में पत्रकारवार्ता कर भानू प्रताप सिंह तोमर ने साफ-साफ कहा था कि यह विवाद दो पूर्व डीएसपी का नहीं बल्कि भानू प्रताप सिंह और सुरेश सिंह सिकरवार के बीच का विवाद है।

यह पूरा विवाद गुना वायपास स्थित सरकुलर रोड की जमीन का है। बताया जाता है कि यहां पूर्व डीएसपी भानू प्रताप सिंह तोमर और उनके साझेदारों की संयुक्त जमीन है। श्री तोमर ने बताया कि यह जमीन उन्होंने वर्ष 2008 मेें खरीदी थी। लेकिन अभी इसका बंटवारा नहीं हुआ था। इसी जमीन के पास स्थित दूसरी जमीन रविंद्र जैन की है। जिसने इस जमीन को डॉ. सुनील तोमर और उनके पार्टनरों को बेच दी।

भानू प्रताप सिंह का कहना है कि इस जमीन से लगी हुई 15-16 विश्वा जमीन को आरोपीगण सुनील तोमर आदि अपनी बता रहे हैं और इस जमीन में श्री तोमर सहित एक पूर्व डीएसपी की धर्मपत्नी का नाम भी रजिस्ट्री में है। इसी जमीन के बारे में बात करने के लिए जब सुनील तोमर, मोनू भगवती, इदरीश खान और एक रायफलधारी भानू प्रताप सिंह के निवास स्थान पर पहुंचे तो श्री तोमर का कथन है कि आरोपियों ने उनसे कहा कि यह जमीन हमने 1 करोड़ 70 लाख रूपए में खरीदी है।

इसमें बोस भी पार्टनर हैं, आप उनसे बात कर लो। लेकिन मैंने बात नहीं की। इसके बाद मुझे आरोपियों ने धमकाया तथा जान से मारने की धमकी दी। इस पर डॉ. सुनील तोमर, मोनू भगवती, इदरीश खान और एक रायफल धारी पर मामला कायम किया गया था।

इसके बाद अब डॉ. सुनील तोमर की रिपोर्ट पर भानू प्रतापंसिंह तोमर के दो पुत्रों पर मामला कायम किया गया है। शिकायत में फरियादी डॉ. सुनीलसिंह तोमर पुत्र राकेशसिंह तोमर निवासी सरकारी कोठी न. 06 फिजीकल रोड ने बताया कि मेरी पत्नी शशि तोमर सहित मिथलेश सिकरवार, निर्मला अग्रवाल ने मिलकर रविंद्र जैन से सर्वे नंबर 933 की जमीन गुना वायपास पर वैशाली गार्डन के पास 28 जनवरी 2021 को क्रय की थी। उसी जमीन से लगी हुई भानू प्रतापसिंह तोमर की जमीन है।

इसी बात पर से भानू प्रतापसिंह तोमर के लड़के डब्बू उर्फ राघवेंद्र एवं आसू तोमर ने 8 फरवरी को शाम के समय फोन किया और पूछा कि तुम कहां हो, मुझे आपसे बात करना है। जिस पर मैंने कहा कि घर आ जाओ। थोड़ी देर बाद डब्बू और आसू मेरे घर आ गए। डब्बू गाड़ी में बैठा रहा और गाली-गलौंज कर रहा था। इतने में आसू कार से उतरकर मेरे पास आए और जमीन को लेकर बात करने लगा।

आसू ने कहा कि तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई हमारे पास जमीन खरीदने की तुम हमारे पिता को नहीं जानते हो और उस जमीन को छोड़ तो नहीं तो अच्छा नहीं होगा और गाली-गलौंज करने लगा। जब गाली देने से मना किया तो निपटा देने की धमकी भी दी। इतने में मेरे पास बैठे सुनील अग्रवाल, मयंक अग्रवाल, ईदरीश खान व सोनू व्यास ने मुझे बचाया और दोनों युवक कार से भा गए।

घटना से मैं इतना डर गया कि ग्वालियर चला गया। जब मैं ग्वालियर से लौटकर आया तो उक्त लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने थाने पहुंचा। मामले में पुलिस ने फरियादी की शिकायत पर डब्बू उर्फ राघवेंद्र सिह तोमर व आसू तोमर पुत्र भानू प्रतापसिंह तोमर के खिलाफ भादवि 294, 506 व 34 के तहत केस दर्ज कर लिया है।