चांदनी की मौत के जिम्मेदार शास्त्री को पुलिस ने नही किया गिरफ्तार: आरोप

शिवपुरी।
पुलिस थाना खनियाधाना क्षेत्र में बीती 27 अक्टूबर को घर की छत पर चांदनी पुत्री बृजेश पाण्डे निवासी ग्राम मुहारीखुर्द खनियाधाना ने ग्राम के ही नाथूराम शास्त्री के द्वारा सार्वजनिक रूप से की गई टिप्पणी से इतनी व्यथित हुई कि मिट्टी का तेल डालकर आत्महत्या कर ली।

इस मामले में पुलिस ने फरियादी संजू मृतका के भाई की शिकायत पर आरोपी के विरूद्ध धारा 305 के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर मामला विवेचना में ले लिया। लेकिन पुलिस इस अपराध के बाद से आरोपी को अब तक गिरफ्तार नहीं कर सकी। जिससे परिवारजनों में रोष व्याप्त है।

इस घटनाक्रम को लेकर फरियादी संजू व उसके पिता बृजेश पाण्डे द्वारा घटना को लेकर दोषी नाथूराम शास्त्री की गिरफ्तारी को लेकर मांग की गई लेकिन आरोपी घटना के बाद से ही फरार है जिसके कारण मासूम चांदनी पाण्डे ने आत्महत्या कर ली थी।

इस मामले में पुलिस में दर्ज शिकायत में फरियादी संजू पुत्र बृजेश पाण्डे ने बताया था कि उसकी बहिन चांदनी को ग्राम मुहारीखुर्द के नाथूराम शास्त्री निवासी मुहारीखुर्द के द्वारा मृतिका चांदनी पाण्डे के परिवार पर बछिया हत्या होने का आरोप लगाया गया था।

जिसकी पूजापाठ नाथूराम शास्त्री के अनुसार कराया जाना थ उसके बाद भी गांव के नाथूराम शास्त्री पुत्र स्व.गयाप्रसाद शास्त्री निवासी मुहारीखुर्द ने घटना वाले दिन 27 अक्टूबर को बालिका चांदनी को कहा कि इस हत्यारी को किसने बुलाया व कहा कि तू मर क्यों नहीं जाती उस क्षोव व प्रताडऩा से दुष्प्रेरित होकर चांदनी पाण्डे द्वारा अपने ही घर की छत पर स्वयं के ऊपर मिट्टी का तेल डालकर आत्महत्या कर ली।

जिस पर आरोपी नाथूराम शास्त्री के विरूद्ध 28 अक्टूबर को थाना खनियाधाना में धारा 305 के तहत मामला पंजीबद्ध किया गया लेकिन इस घटना के बाद से ही आरोपी फरार है। पीडि़त पक्ष ने पुलिस से इस मामले में कार्यवाही की मांग की हैं।