चुनावी कार्यक्रमों पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाई जाए: सपाक्स - Shivpuri News

शिवपुरी। सपाक्स की जिला ईकाई ने मुख्य चुनाव आयुक्त के नाम डिप्टी कलेक्टर को एक ज्ञापन सौंपा हैं। इस ज्ञापन में मांग की हैं कि मप्र विधानसभा से इस्तीफा देने वाले विधायकों को 5 साल के लिए अयोग्य घोषित करें। 

क्योंकि इन्होंने लोकतंत्र की हत्या करके निर्वाचित सरकार को गिराया है और अब उपचुनाव हो रहे हैं । यह किसी भी स्थिति में ठीक परंपरा नहीं है इसलिए चुनावी रैली और सभा पर पूरी तरह रोक लगनी चाहिए।

सपाक्स के जिलाध्यक्ष महेंद्र भैय्यन ने कहा कि मार्च में मप्र में 22 विधायकों ने और बाद में 2 और विधायकों ने अपने निजी स्वार्थ की खातिर जनता को धोखा देकर एक निर्वाचित सरकार को गिराकर अकारण ही लोकतंत्र की हत्या कर 24 सीटों पर उप-चुनाव थोपा हैं।

पहले तो इन विधायकों ने इस्तीफा देकर निर्वाचित सरकार को गिराकर पाला बदला और अब फिर से उप-चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं। जो सरासर गलत हैं। इन नेताओं ने उप चुनाव को देखते हुए अपने-अपने विधानसभा क्षेत्र में सघन दौरे, रैली और आम सभा भी प्रारंभ कर दी है इस कारण कोरोना महामारी तीव्र गति से फैल रही है । 

हाल ही में पोहरी,करैरा में मुख्यमंत्री,केन्द्रीय मंत्री,सांसद सहित अनेक नेताओं की चुनावी सभाएं हुईं जिससे जिले के कलेक्टर,एसपी,एसडीओपी, टीआई सहित अनेक लोग कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं जिससे जिले में कोरोना का खतरा और बढ़ गया है।

अतःअनुरोध है कि देश,प्रदेश और आम जनता के हित को ध्यान में रखते हुए इस्तीफा देने वाले 24 विधायकों को 5 साल के लिए अयोग्य घोषित कर चुनावी रैली और आम सभा पर अतिशीघ्र रोक लगाने की कृपा करें ताकि अधिकारी और आम आदमी का कोरोना से बचाव हो सके।

सपाक्स के जिलाध्यक्ष महेंद्र भैय्यन ने कहा कि यदि चुनाव आवश्यक है तो उप चुनाव में प्रत्याशी और उसके सिर्फ 5 समर्थकों को घर-घर जाकर प्रचार करने की अनुमति प्रदान करें और बड़े नेताओं को सिर्फ वर्चुअल रैली करने की अनुमति प्रदान करें ताकि आम आदमी सुरक्षित रह सके।