जनपद पंचायत पारागढ में जमकर हुआ घोटाला, लाखों का गबन / SHIV[PURI NEWS

शिवम पाण्डेय@शिवपूरी। मध्य प्रदेश सरकार ग्राम पंचायत स्तर पर ग्रामीणों को सीधा लाभ पहुंचाने के लिए विभिन्न योजनाओं का संचालन कर रही है एवं उन योजनाओं के माध्यम से करोड़ों रुपयों का काम पंचायतों में प्रदेश सरकार द्वारा दिए जा रहे हैं।

लेकिन सरकार द्वारा चल रही जन हितैषी योजनाओं को ग्राम पंचायतों के कर्ताधर्ता जैसे सरपंच, सहायक सचिव एवं सचिव पलीता लगाने में लगे हैं। बता दे कि सरकार द्वारा शौचालय निर्माण कुटीर निर्माण एवं अन्य कई योजनाओं का लाभ पंचायत के लिए दे रहे हैं लेकिन पंचायत के कर्ताधर्ता बगैर रिश्वत लिए इन योजनाओं का लाभ गरीबो को नहीं दे रहे।

कुछ ऐसा ही मामला करैरा जनपद पंचायत की ग्राम पंचायत पारागढ़ में देखने में आया है जहां पर ग्राम पंचायत पारागढ़ में आने वाला ग्राम जयनगर के ग्रामीणों ने सरपंच पति एवं सचिव संजीव कुसमरिया सहायक सचिव अशोक लोधी पर आरोप लगाया है कि जितने भी हमारी ग्राम पंचायत एवं हमारे ग्राम जयनगर में निर्माण कार्य हुए हैं।

वह पूरी तरह से घटिया हुए हैं क्योंकि बारिश ने सभी घटिया निर्माणों की पोल खोल दी है एवं जितने भी निर्माण कराए गए हैं उसमें सबसे अधिक रेत एवं सीमेंट का कम से कम प्रयोग किया है। इनके अलावा ग्रामीणों ने आरोप लगाते हुए कहा जितनी भी लोगों को कुटीर दी हैं एवं शौचालय बनवाए हैं उन सभी लोगों से रिश्वत ली है तब जाकर योजनाओं का लाभ हितग्राही को मिला है। अगर सरपंच सचिव के संपूर्ण कार्यकाल की जांच हुई तो होंगे ना होगे लाखो के घोटाले उजागर होगा।