यशोधरा राजे के प्रयासों से शिवपुरी में हुई ऑक्सीजन की व्यवस्था, कोरोना मरीजों के लिए बनी जीवनदायनी / SHIVPURI NEWS

शिवपुरी। वैश्विक महामारी के चलते शिवपुरी जिले में लगातार बढ़ रही कोरोना मरीजों की संख्या में इजाफा होता जा रहा हैं, वहीं दूसरी ओर जिला चिकित्सालय में मेडीकल कॉलेज के द्वारा चलाए जा रहे आईसोलेशन वार्ड में बीती रात ऑक्सीजन सिलेण्डर खत्म होने की स्थिति में थे।

इसके कारण दर्जनों मरीज की जान को खतरा उत्पन्न हो गया था, लेकिन जैसे ही मामला कैबिनेट मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया के संज्ञान में आया रातौ-रात न केवल ऑक्सीजन सिलेण्डर की व्यवस्था हुई बल्कि पुलिस सुरक्षा में समय से पहले रात में ही ऑक्सीजन सिलण्डर जिला चिकित्सालय में पहुंच गए।

बताते चलें कि जिला अस्पताल में मेडीकल कॉलेज के नियंत्रण में कोरोना मरीजों का आईसोलेशन एवं टीटमेंट वार्ड संचालित हो रहा हैं। चूंकि कोरोना मरीजों की संख्या में विस्पोटक वृद्धि हो गई हैं। इस कारण अस्पताल में ऑक्सीजन सिलेण्डरों की खपत में भी एकाएक वृद्धि हो गई हैं।

इसी के चलते बीते दिन ऑक्सीजन सिलेण्डर का स्टॉक समाप्त हो गया था और केवल वहीं सिलेण्डर चालू थे जो मरीजों के लिए लगे हुए थे। इस स्थिति में यदि तत्काल ग्वालियर से ऑक्सीजन सिलेण्डरों की आपूर्ति नहीं होती तो मरीजों की जान जाने का गंभीर खतरा पैदा हो गया था। सिविल सर्जन डॉ. पीके खरे ने समस्त औपचारिकता पूर्ण करके वाहन दिन में ही ग्वालियर सिलेण्डर लेने हेतु पहुंचा दिया था, परन्तु वहां पर सिलेण्डर प्रदाय नहीं किए जा रहे थे।

उन्होंने तत्काल ही मामले की जानकारी जिला कलेक्टर को भी दी। इसी बीच वरिष्ठ समाजसेवी मानव अधिकार कार्यकर्ता आलोक एम इंदौरिया को जानकारी लगी उन्होंने तत्काल ही राजमाता विजयाराजे सिंधिया सेन्ट्रर फॉर डबलपमेंट ट्रस्ट की चेयरपर्सन कैबिनेट मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया को इस गंभीर समस्या से अवगत कराया।

खबर यह भी है कि शिवपुरी के संवेदनशील कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह के संज्ञान में भी तत्समय यह मामला आया और उन्होंने भी इस मामले को लेकर यशोधरा राजे सिंधिया से चर्चा की। मामले की गंभीरता समझकर यशोधरा राजे सिंधिया तत्काल सक्रिय हुई और उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के पीएस सुलेमान, कमिश्नर ग्वालियर एवं कलेक्टर शिवपुरी से मामले को लेकर लगातार बात की और रात में ही क्रङ्कक्रस्ष्टष्ठ ट्रस्ट के माध्यम से ग्वालियर में ऑक्सीजन सिलेण्डर की फैक्ट्री खुलवाकर न केवल 68 सिलेण्डर रिफिल करवाए बल्कि उन्हें तत्काल सुरक्षा में शिवपुरी जिला चिकित्सालय में रातौ-रात पहुंचा भी दिया।

सिलेण्डर की भयंकर कमी के चलते जहां कई मरीजों की जान पर बन गई थी। वहीं मरीजों को गंभीर खतरा भी पैदा हो गया था। जैसा की पता चला हैं उक्त सिलेण्डर रविवार की जगह सोमवार सुबह में रिफिल किए जाने हेतु कंपनी के द्वारा बताया गया था। इस स्थिति में कोविड के मरीजों का क्या होता?

शीघ्र स्थापित होगा ऑक्सीजन टेंक: यशोधरा राजे सिंधिया

शिवपुरी की जागरूक विधायक और कैबिनेट मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने बताया कि जिला चिकित्सालय में शीघ्र ही लिक्टि ऑक्सीजन टेंक की स्थापना की जावेगी और उक्त कार्य 15 सितम्बर तक मेरे द्वारा कराने के प्रयास किए जा रहे हैं। इससे न केवल कोविड मरीजों को निर्वाद ऑक्सीजन की बराबर पूर्ति होती रहेगी बल्कि ऑक्सीजन का स्टॉक भी बना रहेगा।