खबर का असर: अब नही थमेंगें जननी एक्सप्रेस के पहिए, कंपनी ने मांगे मानी / Shivpuri News

शिवपुरी। मध्य प्रदेश भर के जननी एक्सप्रेस के बेंडर सोमवार 18 मई से जिगित्सा हेल्थकेयर कंपनी मुंबई के खिलाफ अपनी मांगों के लेकर हड़ताल पर जाने वाले थे। जिसका सरकार और कंपनी पर भारी असर पड़ने वाला था। भोपाल समाचार ने इस खबर को प्रमुखता से प्रकाशित किया था कि कंपनी की हठधर्मिता के कारण जननी के संचालको को भारी नुकसान हो रहा हैं। जिससे 18 मई से जननी के पहिए बंद हो जाऐंगें।

अब बताया जा रहा हैं कि जननी की मांगो को नज़र अंदाज़ करने वाली कंपनी ने जननी बैंडर्स की ज्यादातर मांगो को जायज़ पाकर  मांगे मानी हैं और अपनी लिखित सहमति दी है ,इसके बाद प्रदेश व्यापी जननी एक्सप्रेस की हड़ताल संघ द्वारा रद्द कर देने की घोषणा की है।

गौरतलब है कि जननी बेडर्स पर कुछ महीनों से कंपनी ने अनावश्यक दबाव और पेमेंट में मन माफ़िक कटौती कर इनको परेशान करना शुरू कर दिया था। कंपनी ने जिस जीपीएस से बिलिंग लेना शुरू की है उसमे एग्रीमेंट से अलग ट्रिप सिस्टम लागू कर दिया है। जिससे एक गाड़ी पर हज़ार से साढ़े तीन हजार किलोमीटर तक का नुक़सान हो रहा था।

जिसकी मासिक राशि पैंतीस से चालीस हज़ार रुपया की बिलिंग कम हो जाती है। इस घटिया जीपीएस से एम्बुलेंस की वास्तविक लोकेशन भी ज्ञात नहीं होती जिस वज़ह से 108 कॉल सेंटर एम्बुलेंस चलाते हुए पायलेट से कई कई बार बे बजह फोन करता है जिससे जननी एक्सप्रेस की दुर्घटनाओं में भी भरी इज़ाफ़ा रहा है। पेट्रोल डीज़ल की कीमतों में बढ़ोत्तरी से एम्बुलेंस संचालन का खर्च बढ़ गया है वहीं कंपनी ने वार्षिक इंक्रीमेंट राशि भी नहीं बढ़ाई थी।

इन सब बजहो से आर्थिक नुक़सान में काम करने  मजबूर जननी एक्सप्रेस बेंडर्स प्रदेश भर की 108जननी एक्सप्रेस को सोमवार 18 मई से बन्द करने वाले थे,किन्तु राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की डायरेक्टर डॉ छबि भरदद्वाज ने कंपनी को कठोर निर्देश दिए कि इस महामारी के दौर में यदि ऐंसा होता है तो प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाएं गड़बड़ा सकती हैं।

जननी एक्सप्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अमित घोगरकर की जायज़ मांगों को कंपनी ने अंततः आनन फानन में गंभीरता से लिया और सोमवार को होने वाली हड़ताल को कंपनी जिगित्सा हेल्थ केयर प्रा लिमी मुंबई के आला अधिकारियों ने  जब संघ की जायज मांगों पर गंभीरता से लिया और उन्हें अपनी खामी मानकर जल्द पूरा करने का लिखित आश्वाशन  रविवार शाम को दिया है।

प्रदेश भर में बंद की तैयारी पूरी कर लेने के बाद भी हड़ताल को रद्द कर दिया गया है। जननी एक्सप्रेस प्रदेश संघ के संस्थापक अध्यक्ष आज़म खान ने कंपनी द्वारा अधिकतर मांग पूरी करने पर जिगित्सा हेल्थ केअर कंपनी का आभार माना है और उनके साथ शिद्दत से लगातार काम करने का भरोसा जताया है।

प्रदेश पदाधिकारी बैभव श्रीवास्तव, संजय ठाकुर,महेंद्र परिहार ,सपोले शर्मा, ने अपने प्रदेश भर के बेंडर साथियों से कहा है हम अपने हक के लिए सदैव लड़ेंगे किन्तु आपातकालीन सेवा के संचालन में हरगिज़ कोताही नहीं बरती जाएगी,साथ रहकर हमेशा अच्छी सेवा के लिए संकल्पित है और रहेंगे।