राहत भरी खबर: अमृत की रिर्पोट निगेटिव, शव एंबुलेंस से रवाना / Shivpuri news

शिवुपरी। मृतक अमृत की कोविड 19 की जांच रिर्पोट निगेटिव आने पर स्वास्थय विभाग और शहर ने चैन की सांस ली हैं। अमृत की रिर्पोट जब तक नही आई थी कोलारस के स्वास्थ्य कर्मियो को घर में बंद रहना पडा था। अब अमृत की कोविड 19 की जांच रिर्पोट आ गई वह निगेटिव निकली जिससे जिले में कोविड 19 के मरिजो की संख्या में ईजाफा नही हुआ। वही उसके दोस्त सयूब को भी डिस्चार्ज कर दिया हैं।

जैसा कि विदित हैं कि उत्तर प्रदेश के बस्ती जिला निवासी अमृत कुमार की इलाज के दौरान शुक्रवार-शनिवार की रात मौत हो गई थी। कयास लगाए जा रहे थे कि अमृत की मौत कोरोना से हुई हैं उसे कोरोना संदिग्ध माना जा रहा था। इस कारण स्वास्थय विभाग ने एतियास बरतते हुए सारे कदम उठा लिए थें। कोलारस के अस्पताल के डॉक्टर सहित 14 स्वास्थय कर्मियो को हॉमक्वारटाईन भेज दिया था। वही उसके दोस्त सयूब का भी सैंपल लिया गया था अब उसे भी डिस्चार्ज कर दिया गया हैं।

अमृत की मौत के बाद उसका सैंपल लिया था। रविवार को रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद प्रशासन ने उत्तर प्रदेश सूचना भिजवाई। उत्तर प्रदेश से एंबुलेंस सोमवार को शिवपुरी पहुंची। एंबुलेंस में शव रखने से पहले उसे सेनेटाइज किया गया। इसके बाद शव को रवाना कर दिया। स्वास्थ्य विभाग ने मौत की वजह हीट स्ट्रोक बताई है।

41 सैंपल निगेटिव, जांच के लिए 29 सैंपल और भेजे
जांच के लिए भेजे गए सैंपलों में से 41 की रिपोर्ट सेामवार को आईं हैं। सभी रिपोर्ट निगेटिव हैं। वहीं जांच के लिए 29 अन्य लोगों के सैंपल ग्वालियर भेजे गए हैं। जिला अस्पताल के आईसालेशन वार्ड में आठ लोगों को भर्ती रखा गया है। 

जबकि क्वारिन्टाइन सेंटर में चार मरीज भर्ती हैं। जिले में अभी तक 981 सैंपल भेजे गए। जिसमें से 929 रिपोर्ट निगेटिव रहीं हैं। सीएमएचओ डॉ एएल शर्मा ने बताया कि रेड जोन जिले या दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों की सैंपलिंग करा रहे हैं।