डॉ संकल्प जैन ने सरकारी अस्पताल में मरीज को प्राइवेट क्लीनिक का कार्ड थमा दिया / Shivpuri News

शिवपुरी। खबर जिला अस्पताल से आ रही है जहां सरकारी डॉक्टर मरीजों को प्राइवेट क्लीनिक में भेज रहे हैं। डॉक्टर संकल्प जैन के खिलाफ शिकायत सामने आई है। उन्होंने सरकारी अस्पताल में इलाज करने से मना कर दिया। इतना ही नहीं जब पिता ने सरकारी अस्पताल में ही इलाज कराने की बात की तो गलत दवाई लिख दी। 

पीडित बच्ची के पिता विर्जेद्र पुत्र प्रभूदयाल शर्मा निवासी बडागाव ने आरोप लगाते हुए बताया है कि उनकी पत्नी रूबी शर्मा ने बीते शुक्रवार को बच्ची को जन्म दिया। जिसके चलते आज बच्ची के शरीर पर लाल चिट्टे पडने लगे। इसकी शिकायत बच्ची के पिता विजेन्द्र ने बच्ची की परेशानी अस्पताल की नर्स को बताई जहां उनसे एसएनसीयू वार्ड में पदस्थ चिकित्सक संकल्प जैन से को इस बारे में बात कर लें।

इस पर पिता एसएनसीयू में पदस्थ चिकित्सक संकल्प जैने के पास जाकर परेशान बताई, तो संकल्प जैन ने कहा कि मैं यहां पर सिफ बैठता हूं, उनसे कहा कि मैं बच्चे को यहां पर नहीं देखूगा आप मेरे क्लीनिक पर आ जाना तो वहीं मैं बच्ची को देख लूगा। जिसपर पिता विजेन्द्र ने डॉ. से कहा कि आप मेरी बेटी को अस्पताल में देखें मैं आपके क्लीनिक पर बच्ची को लेकर नहीं आउगा।

जिसपर जिला चिकित्सालय में पदस्थ चिकित्सक संकल्प जैन भडक गए और मल्टीविटामिन दवाई लिख दी। जिससे अस्पताल की ही एक लैडी नर्स ने यह कह कर रिजैक्ट कर दिया कि इस दवा से लगाने से बच्ची को कोई फायदा नहीें होगा, इतनी ही नहीं इस दवा से आपकी बेटी को और और परेशानी हो सकती है। बताया जा रहा है कि संकल्प जैन आए दिन ऐसे ही मरीजों के साथ व्यवहार करते है। वह आए दिन लोगों को अपने क्लीनिक पर बुलाने के लिए अपना कार्ड थमाते है।